कोरोना के खिलाफ युद्धस्तर की तैयारी शुरू, क्राइसिस कमेटी की बैठक में सीएम शिवराज के बड़े निर्देश

साथ ही 15 से 18 वर्ष के बच्चों को कोरोना टीकाकरण के लिए भी सीएम शिवराज चर्चा करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj singh chouhan) ने प्रदेश की जनता को संबोधित किया। VC के माध्यम से होने वाले संबोधन में सीएम शिवराज (CM Shivraj) प्रदेश में तेजी से बढ़े कोरोना (Corona) संक्रमण पर जनता से अपील की। साथ ही 15 से 18 वर्ष के बच्चों को कोरोना टीकाकरण के लिए भी सीएम शिवराज ने जोर दिया।

Read More : दारू पीकर हुड़दंग करना पड़ा भारी, SP ने TI और ASI को किया सस्पेंड

प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि ग्राम स्तरीय पंचायत स्तरीय वार्ड स्तर पर क्राइसिस मैनेजमेंट समिति द्वारा गंभीरता से लिया जाए वही ऐसे लक्षण दिखने वाले के तुरंत कोरोना टेस्ट कराया जाए ऐसे लोगों पर सख्त निगरानी रखने की आवश्यकता है। सभी 52 जिलों में एक-एक कोविड केयर सेंटर आप तत्काल प्रारंभ कर दीजिए। ताकि सामान्य लक्षण वाले पॉजिटिव पेशेंट को जरूरत पड़ने पर वहां भर्ती किया जा सके। सभी अस्पतालों की व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रखें।

सीएम शिवराज ने कहा कि ब्लॉक स्तर पर कोविड केयर सेंटर और अस्पताल की व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद रखें। जिला स्तर पर टेस्ट बढ़ाने होंगे। हर जिले में कम से कम एक कोविड केयर सेंटर तत्काल रूप से प्रारंभ करना है। ताकि जरूरत पड़ने पर मरीज को वहां भर्ती कराया जा सके। जिलों में फीवर क्लिनिक जहां चालू नहीं हैं, वहां चालू करने हैं। पूरे जिले में सर्दी-खांसी, बुखार वालों के टेस्ट होना ही चाहिए। जो पॉजिटिव केस आ रहे हैं, उनकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग सुनिश्चित करें। ताकि यह जानकारी तत्काल मिल सके कि कोई और तो संक्रमित नहीं हुआ है।

सीएम शिवराज ने कहा कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पर विशेष रूप से ध्यान दें। संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए यह अत्यंत आवश्यक है। मामूली लक्षण वाले मरीजों को कोविड केयर सेंटर में रखें। अंतरराज्यीय आवागमन की निगरानी विशेष तौर पर करें। अस्पतालों में बेड, दवाइयां, उपकरण और ऑक्सीजन की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उपकरणों को जांच परख लें कि वह चालू हालत में हैं या नहीं। कम से कम 1 महीने की आवश्यकता के मुताबिक दवाओं और उपकरणों की व्यवस्था रखें।

सीएम शिवराज ने कहा कि निजी अस्पतालों के साथ हुए अनुबंध की अवधि 1 जनवरी से 31 मार्च 2022 तक के लिए बढ़ा ली जाए। ताकि आवश्यकता पड़ने पर निजी अस्पतालों में भी मरीजों का इलाज किया जा सके। प्राइवेट अस्पतालों में मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के अंतर्गत निःशुल्क उपचार होगा। 31 हजार बिस्तर अभी हमारे शासकीय अस्पतालों में हैं। हम कम से कम 25 हजार दूसरे प्राइवेट अस्पतालों के बिस्तर भी तैयार करके रखें। यह अनुबंध जल्दी से जल्दी कर लें, ताकि जनता को, गरीबों को, मध्यमवर्गीय और निम्न मध्यमवर्गीय भाई-बहनों को निःशुल्क उपचार सुनिश्चित कर पाएं

सीएम शिवराज ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ पहली लहर का मुकाबला हमने वैश्विक युद्धस्तर पर किया था। वहीं दूसरी लहर से भी हम बाहर निकलने में सफल रहे थे। वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व कौशल के कारण देश के 140 करोड़ लोगों को डोज लग चुके हैं।