जहरीली शराब से मौत पर गुस्से में कांग्रेस, CM शिवराज के लिए कही ये बड़ी बात 

शिवराज जी, ये शराब माफिया कब तक यूँ ही लोगों की जान लेते रहेंगे ? आख़िर “ये माफिया कब गड़ेंगे, कब टगेंगे, कब लटकेंगे, आपका बदला हुआ मूड कब इन माफ़ियाओ को दिखेगा ?

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने से लगातार हो रही मौतों से कांग्रेस (Congress)  गुस्से में है। रतलाम और मुरैना के बाद अब छतरपुर में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों पर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) पर निशाना साधा है। कांग्रेस (Congress) ने माफिया के खिलाफ चल रही कार्रवाई पर भी सवाल उठाये हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने एक साथ तीन ट्वीट (Tweet)कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) पर निशाना साधा है। कमलनाथ (Kamalnath) ने ट्वीट (Tweet) करते हुए सवाल किया – उज्जैन में ज़हरीली शराब से 14 की एवं मुरैना में 25 की मृत्यु के बाद अब छतरपुर में शराब से 4 लोगों की दुखद मौत? शिवराज जी, ये शराब माफिया कब तक यूँ ही लोगों की जान लेते रहेंगे ? आख़िर “ये माफिया कब गड़ेंगे, कब टगेंगे, कब लटकेंगे, आपका बदला हुआ मूड कब इन माफ़ियाओ को दिखेगा ?

दूसरे ट्वीट (Tweet) में कमलनाथ (Kamalnath) ने लिखा – रेत माफिया, भू माफिया, वन माफिया, शराब माफिया सब तरह के माफिया आपकी सरकार आते ही वापस बेख़ौफ़, रोज़ सरकार को दे रहे है खुली चुनौती ?
आपके सारे दावे जुमले साबित हो रहे है।

तीसरे ट्वीट (Tweet) में अपनी सरकार की उपलब्धि बताते हुए कमलनाथ (Kamalnath) ने लिखा – हमने 15 माह में ही प्रदेश को माफियामुक्त व भयमुक्त बनाने की दिशा में ठोस काम किया था लेकिन आपकी सरकार में प्रदेश वापस माफिया युक्त बनता जा रहा है।

 

वहीँ कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा ने भी छतरपुर में जहरीली शराब पीने से हुई  मौतों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है।  केके मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा- मप्र में जहरीली शराब से अनगिनत मौतों का तांडव जारी छतरपुर में फिर मौतें!! मुख्यमंत्री जी कह रहे हैं राज्य में पूर्ण नशामुक्ति होगी???कब????

गौरतलब है कि रविवार को छतरपुर जिले के हरपालपुर थाना क्षेत्र के ग्राम परेथा में जहरीली शराब पीने से जहां पिता-पुत्र की मौत हो गई वहीं कुछ लोग बीमार हो गए जिन्हें जिला अस्पताल भेजा गया लेकिन उनमें से दो लोगों की मौत हो गई और एक जिंदगी व मौत से जंग लड़ रहा है। सुबह से स्वास्थ्य अमले ने गांव पहुंचकर बीमार हो चुके लोगों की जांच की और गंभीर हालत होने पर चिन्हित किए गए तीन लोगों को जिला अस्पताल भिजवाया। गंभीर लोगों में से एक वह युवक शामिल है जिसके परिवार के दो सदस्य काल के गाल में समा गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here