निकाय चुनाव को विधानसभा चुनाव का ट्रेलर समझें, तैयारियों में जुट जाए सभी विधायक : कमलनाथ

नाथ ने कहा कि सभी विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में किसान आंदोलन के समर्थन में भी जन जागरण अभियान चलाएं। हमें इन काले कानूनों की वास्तविकता जनता तक पहुँचाना होगी कि किस प्रकार स्व.इंदिरा गांधी जी ने अपने कार्यकाल में कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी निर्णय व फैसले लिए थे

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने अपने सभी विधायकों को नगरीय निकाय चुनाव (Urban body Election) की तैयारियों में जुट जाने के निर्देश दिए हैं| रविवार को हुई विधायक दल की बैठक में कमलनाथ ने कहा नगरीय निकाय चुनाव को आगामी विधानसभा चुनाव का ट्रेलर समझकर सभी विधायक आज से ही जुट जाएं और इस चुनाव के साथ-साथ आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में भी जुट जाएं। तेरा-मेरा, अपना-पराया नहीं करते हुए योग्य उम्मीदवार का नाम को आगे बढ़ाएं|

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि नगरीय निकाय चुनाव जनता से सीधे जुड़ाव वाला चुनाव होता है , इसके माध्यम से आप जनता से अपने संबंधों को और प्रगाढ़ कर सकते हैं। इन चुनावो को बेहद गंभीरता से लेते हुए सभी जी-जान से इस चुनाव में जुड़ जाएं।आज की राजनीति पूर्व की तरह नहीं है, आज जनता से सीधा संबंध रखने वाला जनता की पहली पसंद होता है।

किसान आंदोलन के समर्थन में चलाएं जन जागरण अभियान
नाथ ने कहा कि सभी विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में किसान आंदोलन के समर्थन में भी जन जागरण अभियान चलाएं। हमें इन काले कानूनों की वास्तविकता जनता तक पहुँचाना होगी कि किस प्रकार स्व.इंदिरा गांधी जी ने अपने कार्यकाल में कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी निर्णय व फैसले लिए थे। इंदिरा गांधी जी ने एमएसपी से लेकर कृषि उत्पादों के किसानों को वास्तविक मूल्य दिलाने के लिए कई क्रांतिकारी फैसले लिए थे। आज केंद्र की मोदी सरकार कुछ औद्योगिक घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए किसानों को बर्बाद करने पर तुली हुई है।इन काले कानूनों के माध्यम से एमएससी बर्बाद हो जाएगी ,मंडी व्यवस्था खत्म हो जाएगी ,जमाखोरी कालाबाजारी बढ़ेगी ,कारपोरेट जगत को फायदा होगा ,इसके दुष्परिणामों से किसान बर्बाद हो जाएगा ,इस सच्चाई को आज हमें जन-जन तक पहुंचाना है।

उज्जैन मामला की जांच के लिए समिति बनाई
बैठक में कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने उज्जैन-जबलपुर व मंदसौर की घटना को उठाया और कहा कि किस प्रकार दमन पूर्वक कार्रवाई की जा रही है। उज्जैन की घटना की निष्पक्ष जांच के लिए एक समिति बनाने की उन्होंने मांग की। उज्जैन की घटना पर एक समिति बनाई गई जो उज्जैन जाकर पूरी घटना की जांच करेगी।