Congress का आधिकारिक अकाउंट Twitter ने किया ब्लॉक, नियमों का दिया हवाला

अभी हाल ही में ट्विटर द्वारा नए IT नियमों के पालन की सहमति को लेकर जानकारी सरकार द्वारा दी गई थी।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस पार्टी (AICC) और माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter के बीच पिछले कुछ समय से लगातार मतभेद की स्तिथियां उत्पन्न हो रही हैं, इसी कड़ी में आज फिर एक बार Congress ने ट्विटर पर निशाना साधा है, यह तब हुआ जब ट्विटर द्वारा नियमों का हवाला देकर कांग्रेस पार्टी के ऑफिशियल हैंडल (offficial handle) को Suspend कर दिया गया।

आपको बता दें यह कदम ट्विटर द्वारा कांग्रेस पार्टी के हैंडल से बलात्कार पीड़िता की जानकारी सार्वजनिक रूप से उजागर करने को लेकर लिया गया है। आपको बता दें यह पहली बार नहीं जब कांग्रेस पार्टी से जुड़े लोगों के अकाउंट को ट्विटर द्वारा सस्पेंड किया गया हो, 07 अगस्त को ही पार्टी के नेता राहुल गांधी का अकाउंट सस्पेंड किया गया था जो 5 दिन तक सस्पेंड रहा था।

ट्विटर की आज की गई कार्यवाही के बाद पार्टी के दिग्गज नेताओं के कहा कि ‘हम किसी से डरते नहीं है, हम लगातार अन्याय के खिलाड़ी आवाज उठाते हुए न्याय की लड़ाई जारी रखेंगे। ट्विटर अकाउंट बंद होने से हमारी आवाज़ को बंद नहीं किया जा सकता, हम पीड़िता के न्याय के लिए यूंही आवाज उठाते रहेंगे।’

Congress का आधिकारिक अकाउंट Twitter ने किया ब्लॉक, नियमों का दिया हवाला

जानकारी के मुताबिक ट्विटर के नियमों का उलंघन करने की वजह से ट्विटर द्वारा अधिसूचना के माध्यम से कांग्रेस के पांच वरिष्ट नेताओं के अकाउंट को भी कल रात बंद कर दिया गया था जिसमें अजय माकन, सुष्मिता देव, के सी वेणुगोपाल, रणदीप सुरजेवाला और मनिका टैगोर के अकाउंट शामिल हैं।

Read More: MP Board: 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए गाइडलाइन जारी, अन्य बोर्ड के छात्रों के लिए ये होंगे नियम

आपको बता दें यह सिलसिला तब शुरू हुआ जब राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल से रेप पीड़िता के परिवार की फोटो सार्वजनिक की थी। इसके बाद गांधी के अकाउंट को ट्विटर द्वारा बंद कर दिया गया था। इसका विरोध जताते हुए पार्टी के सदस्य मिलकर “मैं भी राहुल” कैंपेन के द्वारा एकॉउट बंद के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे, जिसके बाद यह कदम ट्विटर द्वारा उठाए गया।

आज हुई इस कार्यवाही पर ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रणव झा ने इस पूरी घटना को ’illegal action’ बताकर प्रधानमंत्री को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। इतना ही नहीं इस एक्शन के बाद कांग्रेस पार्टी के बाकी वरिष्ट नेता भी ट्विटर पर अलग अलग तारीक से विरोध प्रदर्शन कर अपनी बात जनता के सामने रख रहे हैं। हालंकि ट्विटर ने कहा है कि जिनके अकाउंट हैंडल द्वारा बंद किए गए हैं, वे प्लेटफार्म पर इसके खिलाफ अपील कर सकते हैं।