चाय पर चर्चा: CM शिवराज को दो मंत्रियों ने बताई विभाग की प्रोग्रेस रिपोर्ट 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मंत्री समूह की बैठक में मंत्रियों के साथ चाय पर चर्चा (Discuss on Tea) करने  का फैसला करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान CM Shivraj Singh Chauhan)आज से इसकी शुरुआत कर दी। आज गुरुवार को मुख्यमंत्री ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (Vishwas Kailash Sarang) और खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhra Raje Scindia)से मुलाकात की। दोनों मंत्रियों ने मुख्यमंत्री को अपने अपने विभाग की प्रोग्रेस रिपोर्ट बताई।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) से चाय पर चर्चा (Discuss on Tea) में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (Vishwas Kailash Sarang) ने बताया कि सीएम से चर्चा में तय हुआ है कि मध्य प्रदेश में ईज ऑफ हेल्थ सर्विसेज शुरू की जाएगी। इसके तहत लोगों को समय पर गुणवत्तापूर्ण इलाज मिल सके। मुख्यमंत्री के साथ ऐसे 25 बिंदुओं पर चर्चा हुई है, जिसे अगले 3 साल में लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा किप्रदेश में हेल्थ मैनेजमेंट, क्रिटिकल केयर और इमरजेंसी मेडिसन के पीजी कोर्स जल्दी ही शुरू किए जाएंगे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने मुख्यमंत्री को विभाग द्वारा शुरू की जा रही “मरीज मित्र” (Marij Mitra) योजना की जानकारी दी जिसके तहत अस्पतालों में मरीजों के इलाज में आर्थिक योजना के लिए निजी संस्थाओं को आगे आने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

हर जिले में बनेगा मेडिकल कॉलेज, भोपाल में होगा मेडिकल मंथन 

चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग (Vishwas Kailash Sarang) ने बताया कि नीति आयोग (Niti Ayog) की सिफारिश के अनुसार हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज खोलने को लेकर मुख्यमंत्री ने सैद्धांतिक सहमति दे दी है। उन्होंने जल्दी ही प्लान तैयार करने के निर्देश दिए हैं। मंत्री के मुताबिक प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर बनाने के लिए भोपाल में जल्दी ही मेडिकल मंथन का आयोजन किया जाएगा। दो दिवसीय इस आयोजन में देश भर से चुनिंदा स्वास्थ्य विशेषज्ञों को आमंत्रित किया जाएगा।

यशोधरा राजे से हुई ग्लोबल स्किल्स पार्क पर चर्चा

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग से चर्चा के बाद मुख्यमंत्री ने खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhra Raje Scindia) के साथ भी चाय पर चर्चा की। चर्चा के बाद यशोधरा राजे ने बताया कि मुख्यमंत्री से ग्लोबल स्किल्स पार्क (Global Skills Park)को लेकर चर्चा हुई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री 2017 में सिंगापुर दौरे पर गए थे, तब उन्होंने मध्यप्रदेश में इस तरह के ग्लोबल स्किल्स पार्क (Global Skills Park) की कल्पना की थी। 2017 – 18 में  हमने इसपर काम शुरू किया गया था। लेकिन फिर सरकार चली गई अब 2020 -21 में फिर इसे पटरी पर ला रहे हैं। इस पार्क में 10 हजार बच्चों का स्किल डवलपमेंट करने की योजना है। कल मैंने इसका निरीक्षण किया था पार्क के निर्माण के लिए टाटा कंसल्टेंसी को एजेंसी नियुक्त किया गया है। वहां जाकर मैंने जो देखा , यदि हम इसपर पैनी नजर रखेंगे तो विश्वास के साथ कह सकती हूँ कि ये देश का एक अच्छा ग्लोबल स्किल्स पार्क (Global Skills Park) होगा।