प्रदेश के इस जिले में लगातार हो रही कौवों की मौत,बर्डफ्लू की आशंका,सैंपल भेजे गए भोपाल 

देवास,सोमेश उपाध्याय। देवास जिले के गंधर्वपुरी में लगातार कौवों की मौत हो रही है। जिले में इस तरह से कौवों की मौत होने का कारण फिलहाल तो अज्ञात है, लेकिन जानकार इसे बर्ड फ्लू की शंका बता रहे है। वही पशु चिकित्सकों ने सर्वे किया तो पाया कि किसी अन्य बीमारी के कारण कौवों की मौत हुई है। फिलहाल चिकित्सकों ने मृत कौवों के सेंपल लेकर भोपाल भेजे है।

पिछले कुछ दिनों में अन्य प्रदेशों की तरह मध्यप्रदेश में भी बर्ड फ्लू की बीमारी जिस तरह से फैल रही है, उसे देखकर कहा जा सकता है कि यह गंभीर समस्या हो सकती है। कौवों के उड़ते उड़ते गिरकर कुछ ही देर में मौत हो जाना कोई गंभीर बीमारी हो सकती है। बर्ड फ्लू की बीमारी ने पूरे प्रदेश सहित अन्य प्रदेशों में हाहाकार मचा रखा है, जिसके चलते अंदेशा लगाया जा रहा है कि सोनकच्छ के गंधर्वपुरी में भी कौवों की बर्ड फ्लू के चलते मौत हुई है। हालांकि जिले में ठंड का प्रकोप भी कम नहीं है, जिसके चलते ठंड से भी कौवों की मौत होना माना जा रहा है। सैम्पल आने तक समस्या को गंभीर मानकर उसे बर्ड फ्लू की आशंका से देखा जा रहा है।

इस संबंध में गांव के कुछ लोगों से चर्चा हुई तो उन्होनें बताया की पिछले आठ दिनों में किसी अज्ञात बीमारी के चपेट में आने से 10 से अधिक कौओं की मौत गांव में और आसपास के इलाकों में हुई है। वहीं बताया गया है की गांव के हर मोहल्ले में एक-दो कौओं को मृत अवस्था में पाया गया था। साथ ही ग्रामीणों का कहना है की अचानक पक्षियों की मौत होने से लोगों में बीमारियां फैलने का भय है। कुछ दिनों से ग्रामीणों के आंगन व बाड़े में भी कौओं का आना लगा रहता है। कौए उड़ नहीं पा रहे हैं और देखते ही देखते कुछ समय बाद उनकी मौत हो रही है।

पशु चिकित्सक डॉ. त्रिपाठी ने जानकारी देते हुए बताया कि हमें ऐसी जानकारी मिली थी कि 5 कौवों की वहां एक साथ मौत हुई है। जिसके चलते हमने हमारी टीम को सोनकच्छ के गंधर्वपुरी में भेजा है, जहां उन कौवे के सैंपल लेकर हमने भोपाल पहुंचा दिया है। सैंपल आने के बाद मालूम होगा कि किस तरह की बीमारी है। हालांकि इंदौर व अन्य जिलों में हुई मौतें भी सामान्य मौतें बताई जा रही है। आज भी हमने हमारी टीम को सोनकच्छ भेजा था लेकिन ऐसा वहां कुछ नहीं मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here