ग्वालियर में IAS की माँ और दो डॉक्टर का कोरोना से निधन

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर  के जयारोग्य अस्पताल (JAH Gwalior) में पदस्थ दो डॉक्टर्स का इलाज के दौरान कोरोना (Corona) से निधन हो गया।  दोनों डॉक्टर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Super Specialty Hospital) में भर्ती थे। उधर ग्वालियर (Gwalior) के एक निजी अस्पताल में भर्ती IAS अधिकारी अनूप सिंह (IAS Anoop Singh) की माताजी का भी कोरोना से इलाज के दौरान निधन हो गया ।

जानकारी के अनुसार ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल (JAH Gwalior) के पीएसएम विभाग में पदस्थ डिमांस्ट्रेटर डॉ अपेक्षा भाले का कोरोना के इलाज के दौरान निधन हो गया वे 55 साल की थी। बताया जा रहा है कि वे किडनी के कैंसर से जूझ रहीं थी और पिछले दिनों उन्हें कोरोना हो जाने के बाद सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  वही जयारोग्य अस्पताल समूह की कैजुअल्टी माधव डिस्पेंसरी में पदस्थ युवा 35 वर्षीय मेडिकल ऑफिसर डॉ देवेंद्र सिंघार को भी कोरोना निगल गया। वे कुछ समय पहले ही जयारोग्य अस्पताल समूह में पदस्थ हुए थे।  उन्हें भी कोरोना होने के बाद सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

ये भी पढ़ें –पद्मश्री डॉ केके अग्रवाल का कोरोना से लंबी लड़ाई के बाद निधन

उधर IAS अनूप सिंह की माँ राम देवी का ग्वालियर के निजी अस्पताल में कोरोना से निधन हो गया।  वे 67 साल की थी।  जबलपुर में पदस्थ अपर कलेक्टर अनूप सिंह की माँ को पिछले दिनों 13 अप्रैल को ग्वालियर के केडीजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था , वे कोरोना से संक्रमित थी।  वे धीरे धीरे रिकवर हो रही थी लेकिन बताया जा रहा है कि प्लेटलेट काउंट कम हो गया और किडनी फेल हो गई जिससे उनका निधन हो गया।  गौरतलब है कि IAS अनूप सिंह को पिछले दिनों विधानसभा चुनाव के बाद दमोह का कलेक्टर बनाया गया था लेकिन माँ के स्वास्थ्य का हवाला देते हुए उन्होंने कलेक्टर का दायित्व लेने से इंकार कर दिया था।

ये भी पढ़ें – एक्शन मोड़ में कलेक्टर, SDM ने झोला छाप डॉक्टरों व अवैध मेडिकल स्टोर पर मारा छापा