इंदौर: रेमडेसिवीर की कालाबाजारी जारी, 2 गिरोह के 6 सदस्य इंजेक्शन के साथ गिरफ्तार

गिरोह रेमडेसिविर के साथ - साथ ये लोग ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के नाम पर भी काला बाजारी करते थे।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। कोरोना संकट के दौरान संजीवनी माने जा रहे है रेमडेसिवीर इंजेक्शन को लेकर एक बार फिर मानवीयता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। लोगो की जिंदगी की कीमत को मनमाफिक लगाने वाले 2 गिरोह का फंडाभोड़ मध्यप्रदेश की इंदौर पुलिस ने किया है। इंदौर के विजयनगर थाना क्षेत्र में सक्रीय दो गिरोह के 6 सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्त में ले लिया है।

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले एक गिरोह के 4 सदस्यों पर शिकंजा कसते हुए विजयनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ये गिरोह मेडिकल स्टोर और मेडिकल सेंटर से दवाइयां और इंजेक्शन मैनेज कर लोगो को मनमाने दामो पर बेचते थे। पकड़े गए चारो आरोपी एक इंजेक्शन 25 हजार 35 हजार तो सामान्य तौर पर लेकिन जरूरतमंदो से 70 हजार से लेकर 1 लाख रुपये तक ऐंठते थे।

Read More: फ्रांस, बेल्जियम और उज्बेकिस्तान ने बढ़ाया मदद का हाथ, भारत भेजे कोरोना संबंधी तमाम उपकरण

इधर, पुलिस ने एक अन्य रेमडे गिरोह के 2 सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास रखे इंजेक्शन जब्त किए है। गिरोह के 2 सदस्य व्हाट्सएप संदेशों के जरिये अलग – अलग ग्रुप्स में रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए खरीदने वालों को आमंत्रित करते थे। गिरोह रेमडेसिविर के साथ – साथ ये लोग ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के नाम पर भी काला बाजारी करते थे।

विजय नगर थाना तहजीब काजी ने बताया कि हालिया कार्रवाई में 2 गिरोह के 6 सदस्यों को कुल 9 रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ गिरफ्तार किया है। उन्होने बताया कि गिरफ्त में लिए गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही ताकि ये पता लगाया जा सके विओ कहा से इंजेक्शन लेकर आये और उनके तार कहा कहा जुड़े है।