Indore News: कांग्रेस ने घोषित किया महापौर प्रत्याशी, विजयवर्गीय को दी चुनौती

इंदौर, आकाश धौलपुरे। नगरीय निकाय चुनावों (Urban Body Election) की तारीखों की घोषणा भले ही अभी नहीं हुई है लेकिन राजनैतिक दलों ने अपनी चौसर बिछा ली है। विरोधियों के लिए किलेबंदी की शुरुआत आज कांग्रेस ने कर दी और पार्टी ने नई परंपरा की शुरआत करते हुए मंच से अपना महापौर पद का प्रत्याशी घोषित कर दिया। इतना ही नहीं प्रत्याशी घोषित करते ही कांग्रेस(Congress) ने भाजपा (BJP)के कद्दावर नेता को चुनौती भी दे दी।

इंदौर (Indore) में लम्बे समय से चली आ रही चर्चा को आज उस वक्त विराम लग गया जब महापौर (Mayor)पद के प्रत्याशी की आधिकारिक घोषणा कांग्रेस के कार्यकर्ता सम्मेलन में सभी कार्यकर्ताओं के सामने कांग्रेस ने कर दी।  इंदौर में कांग्रेस के बहुचर्चित चेहरे और महापौर (Mayor)पद की दावेदारी जता रहे क्षेत्र क्रमांक 1 के कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला (Sanjay Shukla) के नाम पर आज सहमति बन गई और कांग्रेस नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Election) की इंदौर प्रभारी विजय लक्ष्मी साधौ (Vijay Lakshmi Sadho)ने संजय शुक्ला (Sanjay Shukla) को कांग्रेस का महापौर (Mayor) पद का प्रत्याशी घोषित कर दिया। इस अवसर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी, पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के.के.मिश्रा, शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल और विधायक संजय शुक्ला शहीत अन्य कांग्रेसी नेता मंच पर मौजूद थे। साधौ ने न सिर्फ संजय शुक्ला को प्रत्याशी घोषित किया बल्कि उन्हें इंदौर का अगला महापौर भी बता दिया।

सज्जन सिंह वर्मा ने दी विजयवर्गीय को फिर चुनौती

एक निजी होटल में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में मंच से पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Varma)ने एक बार फिर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) को ललकारते हुए चुनौती दी कि वो संजय शुक्ला (Sanjay Shukla) के सामने चुनाव लड़े। पूर्व मंत्री वर्मा ने इस मौके पर कहा कि विजयलक्ष्मी साधौ महेश्वर से ग्वालियर में जाकर डबरा में इमरती देवी को हराने वाली नेता हैं।   उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि मैं इमरती देवी के बारे में ज्यादा बोलूंगा तो बीजेपी सवाल उठाने लगेगी।

80 प्रतिशत युवाओं को मिलेंगे टिकट,परिणाम कुछ भी हो

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Varma) ने इंदौर में 21 फ़रवरी को पूर्व सीएम कमलनाथ (Ex CM Kamalnath)के कार्यक्रम को लेकर कार्यकर्ताओ से तैयार रहने को कहा। इस मौके पर महापौर पद के प्रत्याशी संजय शुक्ला द्वारा 55 वार्डो तक पहुंचने को लेकर खुशी जताई और कहा कि निकाय चुनाव के लिये कांग्रेस के पार्षद पद के उम्मीदवारों के टिकट अब न तो प्रदेश और ना ही राष्ट्रीय स्तर पर तय होंगे बल्कि इंदौर के नेता इंदौर में ही तय करेंगे। उन्होंने युवाओं की भागीदारी चुनाव में 80 प्रतिशत तक रखने की बात कर कहा कि कांग्रेस चुनाव लड़ने के लिए युवाओं को मौका देगी भले ही परिणाम कुछ भी हो।

कुल मिलाकर इंदौर में टिकट वितरण को लेकर होने वाली माथा पच्ची की कमान इंदौर में ही होगी जिसका सीधा मतलब है कि कांग्रेस निकाय चुनाव में किसी भी हालत में परास्त नहीं  होना चाहती है। वही विजयवर्गीय को मंच से चुनौती देना एक तरह का जाल है जिसमें बीजेपी को उलझाने की कोशिश कांग्रेस कर रही है ऐसे में ये अंदाज लगाया जा सकता है कि निकाय चुनाव में कांग्रेस बीजेपी की झोली में एकतरफा जीत देने को तैयार नहीं है। फिलहाल, संजय शुक्ला का नाम अब घोषित हो चुका है लिहाजा, अब इंदौर की राजनीति में नित नए पड़ाव देखने को मिल सकते हैं।