Indore News: दो गुटों में विवाद के बाद खूनी संघर्ष, जेल प्रहरी को किया गया निलंबित

बता दे कि घटना के बाद सवाल ये उठ रहे है कि आखिर वो धारदार हथियार चाकू है तो सीसीटीवी और कड़ी सुरक्षा के बीच चाकू अंदर कैसे पहुंचा?

निलंबित

इंदौर, आकाश धोलपुरे। हनी ट्रैप कांड की आरोपियों और उनके साथ बाहर आई पूर्व जेलर कुलश्रेष्ठ की तस्वीरों के बाद एक बार फिर इंदौर की जिला जेल विवादों में घिर गई है। इस बार विवाद दो गुटों में हुए विवाद के बाद खूनी संघर्ष में चाकू के इस्तेमाल का है। वही जेल अधीक्षक अजमेर सिंह ठाकुर ने तत्काल प्रभाव से प्रहरी दीपक तिवारी को सस्पेंड कर दिया।

दरअसल, जिला जेल इंदौर में शुक्रवार शाम को बंदियों की गैंग के सदस्य आपस मे भिड़ गए। सूत्रों के मुताबिक इस दौरान जेल में चाकूबाजी हुई और कैदियो द्वारा जमकर शोर मचाया गया तब कही जाकर जेल प्रशासन हरकत में आया। जानकारी के मुताबिक जेल में इन दिनों ड्रग तस्कर सलमान लाला और इमरान – सलीम गैंग के बीच वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। शुक्रवार शाम को इमरान – सलीम गुट के 32 वर्षीय शादाब पिता आरिफ पर सलमान लाला गुट के लोग टूट पड़े और उसके सिर पर धारदार हथियार से हमला कर दिया।

Read More: MP College : शासकीय महाविद्यालयों के लिए उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव का बड़ा फैसला

जिसके बाद शादाब को गम्भीर हालत में एम.वाय. अस्पताल लाया गया जहां उसका इलाज जारी है। हालांकि शुरुआत में जेल प्रशासन ने मामले को दबाने की कोशिश की लेकिन अंततःघायल शादाब को अस्पताल पहुंचाया गया। बता दे कि घटना के बाद सवाल ये उठ रहे है कि आखिर वो धारदार हथियार चाकू है तो सीसीटीवी और कड़ी सुरक्षा के बीच चाकू अंदर कैसे पहुंचा?

वही दूसरी ओर जानकारी ये भी सामने आई है कि हमला ब्लेड से किया गया है इसके अलावा ये बात भी सामने आ रही जेल में बंदी चम्मच को रगड़कर और मोड़कर धारदार हथियार के रूप इस्तेमाल करते है। फिलहाल, ये सबकुछ जांच का विषय है लेकिन ताजा मामले के सामने आने के बाद एक बार फिर जिला जेल सवालो और विवादों के घेरे में आ चुका है और अब इस मामले को लेकर किस तरह की जांच की जाती है और कैसे जेल की आंतरिक व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया जा सकेगा इस पर भी सवाल बने हुए है।