साल 2021 के लिए सफल हुआ ISRO का पहला मिशन, अंतरिक्ष में पहुंची गीता और मोदी

सुबह 10:24 पर लांच हुए इस रॉकेट के लिए उल्टी गिनती शनिवार सुबह 8:54 पर शुरू हो गई थी।

PSLV-C51

श्रीहरिकोटा, डेस्क रिपोर्ट। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organization) को आज 2021 की बड़ी सफलता मिली है। दरअसल ISRO ने आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से PSLV-C51 को लॉन्च किया है। इस रॉकेट के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1 उपग्रह के साथ 18 अन्य उपग्रह अंतरिक्ष में भेजे गए हैं।

इसरो ने बताया कि आंध्र प्रदेश में आज सुबह श्रीहरिकोटा (shri Hari kota) के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से PSLV-C51 को लांच किया गया। सुबह 10:24 पर लांच हुए इस रॉकेट के लिए उल्टी गिनती शनिवार सुबह 8:54 पर शुरू हो गई थी। इसरो के मुताबिक अमेजोनिया 1 को सफलतापूर्वक लांच कर लिया गया है।

Read More: गजब का जलवा था इस सेक्स वर्कर का, देश के कई शहरों में फ्रेंचाइजी पर खोले थे कोठे

इसरो की माने तो पोलर सैटलाइट लॉन्च व्हीकल c-51 (Polar satellite launch vehicle c-51) वाणिज्यिक मिशन है। यह 4 साल का डाटा अंतरिक्ष से पृथ्वी पर भेजेगा। इसके लिए ब्राजील (brazil) से एक दल भारत आया था। जिसके साथ मिलकर भारत ने अमोजॉनिया-1 को सफलतापूर्वक प्रक्षेपित किया है।

ज्ञात हो कि अंतरिक्ष यान के सिर्फ पैनल पर पीएम मोदी (PM Modi) की तस्वीर लगाई गई है। इस मामले में एसकेआई का कहना है कि प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर पहल और अंतरिक्ष निजीकरण के लिए एक जूता की बात की थी। जिसके बाद उनका आभार व्यक्त करने के लिए ऐसा किया गया है।

इस उपग्रह के जरिए अंतरिक्ष में एसकेआई द्वारा सुरक्षित डिजिटल कार्ड के साथ इलेक्ट्रॉनिक भगवत गीता (Bhagwat geeta) भी भेजा जा रहा है। इसके अलावा यह सेटेलाइट 25000 भारतीय लोगों का नाम लेकर अंतरिक्ष में पहुंचेगा।