जूनियर डॉक्टर छात्रा ने हॉस्टल के कमरे में लगाई फांसी, जांच में जुटी पुलिस

गुरुवार की रात जूनियर डॉक्टर ने अपने नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज हॉस्टल नंबर 3 के कमरे में खुद को फांसी लगा ली। 

wife-committed-suicide-

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश में भी अब आत्महत्या के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कभी लोग मानसिक परेशानी तो कभी अन्य समस्याओं की वजह से खुदकुशी को एकमात्र उपाय मान रहे। इसी बीच प्रदेश की न्यायाधीन जबलपुर से एक मामला सामने आया है। मेडिकल की पढ़ाई कर रही एक छात्रा ने देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। हालांकि पुलिस को छात्रा के शव के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। वहीं पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दरअसल जानकारी के मुताबिक छात्रा छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की रहने वाली है। तीन चार महीने पहले ही उसने ऑर्थो मेडिकल की पढ़ाई के लिए कॉलेज में एडमिशन लिया था। जहां 1 महीने की छुट्टी के बाद कुछ दिन पहले ही वह घर से हॉस्टल वापस अाई थी। गुरुवार की रात जूनियर डॉक्टर ने अपने नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज हॉस्टल नंबर 3 के कमरे में खुद को फांसी लगा ली।

यह भी पढ़ें : पत्नी को गला घोंटकर मारा, फिर लगा ली फांसी, गृह क्लेश बना मौत का कारण

हालांकि मामले की सूचना पर पहुंचे गढ़ा पुलिस एफसीएल टीम ने प्राथमिक जांच करने के बाद क्राइम सीन वाले क्षेत्रों को सील कर दिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है। बता दे कि अभी इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि छात्रा ने खुदकुशी क्यों की। मौके से पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला है। वहीं पुलिस आत्महत्या के कारणों की जांच में जुट गई है।