किसान आंदोलन: ग्वालियर में तीन अलग अलग जगहों पर किया चक्का जाम

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कृषि कानूनों (Agricultural Laws)  को वापस लेने की मांग को लेकर पिछले दो महीने से अधिक समय से चल रहे किसान आंदोलन के नेताओं ने आज देशभर में चक्का जाम का आह्वान किया है। 12 बजे से 3 बजे तक आयोजित इस चक्का जाम का असर ग्वालियर में भी देखा गया।

किसान आंदोलन (Farmers Protest)के समर्थन में ग्वालियर में पिछले एक महीने से अधिक समय से धरना चल रहा है ग्वालियर में माकपा के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन के तहत आज तीन जगहों पर किसानों ने चक्का जाम किया गया। किसानों ने बड़ा गाँव, रायरू और मोहना के पास हाई वे पर चक्का जाम किया। किसानों ने यहाँ केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। आंदोलन का नेतृत्व कर रही माकपा (CPIM)ने वरिष्ठ नेता अखिलेश यादव ने कहा कि ये देश किसानों और गरीबों का भी है लेकिन मोदी सरकार केवल पूंजीपतियों का ध्यान रखती है। जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं हो जाते आंदोलन जारी रहेगा। सरकार किसानों और गरीबों को डराने धमकाने का काम कर रही है इसके परिणाम उसे भुगतने होंगे। उधर आंदोलन का समर्थन कर रही कांग्रेस (Congress) के जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा ने कहा कि हम किसानों के साथ हमेशा खड़े हैं। किसान मोर्चे के आह्वान में साथ देने आज हम चक्का जाम में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने कहा था कि जहाँ भी गलत हो उसका प्रतिकार करना चाहिए और कांग्रेस गांधी जी के दिखाये रास्ते पर चलती है।