पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में राज्यमंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ने मुंगावली में दिया धरना

भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या को लेकर राज्य मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ने अशोकनगर के मुंगावली में धरना प्रदर्शन किया है।

अशोकनगर, अलीम डायर। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) को बहुमत मिलने के बाद से ही टीएमसी (TMC) के कार्यकर्ताओं ने उपद्रवियों के साथ मिलकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं से लेकर पार्टी के कार्यालयों पर तक पेट्रोल-बम से हमला किया, इतना ही नहीं वही कई लोगों पर लाठी-तलवारों से भी हमला करना शुरू कर दिया, जिसमें दर्जनों कार्यकर्ताओं की हत्या और सैकड़ों कार्यकर्ता जिंदगी और मौत के बीच की जंग से लड़ रहे है जिसको लेकर अब मप्र (MP) में बीजेपी (BJP) आगे आई है आज प्रदेश भाजपा कार्यालय में धरना दिया गया, जिसमें विष्णुदत्त शर्मा, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल, संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित कई मंत्री और वरिष्ठ नेता शामिल हुए, और इसी की तर्ज पर राज्य मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव (Brijendra Singh Yadav) ने अशोकनगर (Ashoknagar) के मुंगावली (Mungaoli) में धरना प्रदर्शन किया है।

यह भी पढ़ें…सेवढ़ा: मां की सांसों के लिए बेटे ने सोशल मीडिया पर लगाई गुहार, टीआई ने भिजवाया ऑक्सीजन सिलेंडर

मप्र सरकार के मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ने अशोकनगर के मुंगावली में बुधवार को निजी भवन पर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखते हुए धरना प्रदर्शन दिया और पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। वही मंत्री यादव ने कहा कि हाल ही में पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव संपन्न हुए हैं उसी क्रम में पश्चिम बंगाल में भी चुनाव के बाद टीएमसी की सरकार बनी है वहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जैसे ही जनता का बहुमत मिला उसके बाद टीएमसी द्वारा भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की गई, उनके ऊपर एफआईआर दर्ज कराई गई, उन्हें वहां प्रताड़ित किया जा रहा है लोकतंत्र में हिंसा अस्वीकार्य है तृणमूल कांग्रेस के गुंडों द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं को लगातार निशाना बनाया जा रहा है और उसी को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने पूरे देश में धरना प्रदर्शन किया है और ममता की सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रहे हैं। धरने में नरेश ग्वाल, धनपाल सिंह यादव, राजेश यादव, दीपक पालीवाल, हरदीप अरोरा, रंजीत सिंह राजपूत, मनोज शर्मा, ब्रजेन्द्र सिंह, असप्तखेड़ी मोहन यादव, मनीष राय, मुकेश खटीक, विक्रम यादव, सौरव सक्सेना, अजितेश श्रीवास्तव धरने में मौजूद रहे।