mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में स्कूल शिक्षा विभाग (school education department) द्वारा MP Board 12वीं के परीक्षा परिणाम (exam result) का फार्मूला (formulae) तैयार कर लिया गया है। रविवार को यह प्रस्ताव 12वीं की परीक्षा परिणाम तैयार करने के लिए गठित मंत्री समूह के पास भेजा जाएगा। वही मंत्री समूह से निर्देश मिलते इस प्रस्ताव को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) के समक्ष लाया जाएगा।

12वीं के परीक्षा परिणाम तैयार करने के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक 15 दिन से जारी थी। इस दौरान केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (cbse) के फार्मूले पर भी विचार किया गया। हालांकि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (central board of secondary education) का फार्मूला मध्य प्रदेश में लागू नहीं किया जा सकता था।

इस मामले में दलील देते हुए स्कूल शिक्षा विभाग ने कहा था कि 10-11वीं परीक्षा और 12वीं की तिमाही और छमाही परीक्षा का मूल्यांकन का रिकॉर्ड मौजूद ना होने की वजह से CBSE का यह फार्मूला MP Board में लागू नहीं किया जा सकता।

Read More: Tuition Fees: निजी स्कूलों ने की 30 से 50% फीस बढ़ोतरी! अभिभावकों की शासन से बड़ी मांग

वही चर्चाओं की माने तो MP Board 10वीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम और 12वीं के तिमाही, छमाही परीक्षा के आधार पर फार्मूला तैयार किया जाएगा। हालांकि शिक्षकों कहना है कि इस पर मूल्यांकन करना बेहद मुश्किल काम है। क्योंकि 10वीं के 6 विषय के साथ MP Board 12वीं में 12 से 15 विषय होते हैं। ऐसे में दसवीं के प्रत्येक विषय में किस विषय की मैपिंग (mapping) कर उसके किस अंको को 12वीं में जोड़ा जाए। यह फार्मूला तैयार किया जा रहा है।

ऐसे में स्कूल शिक्षा विभाग माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों द्वारा रिजल्ट का फार्मूला तैयार कर लिया गया है और आज मंत्री समूह के होने वाली बैठक में और फार्मूला को पेश किया जाएगा। वही मंत्री समूह से पॉजिटिव रिस्पांस मिलने के बाद इस फार्मूले को सीएम शिवराज के सामने पेश किया जाएगा।