MP Board: 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के छात्रों को बड़ा झटका, ये है कारण

वहीं छात्रों की मांग है कि जल्द से जल्द इस परेशानी का निराकरण किया जाए ताकि बोर्ड परीक्षा दी परीक्षा फॉर्म में हुई गलतियों को संशोधन कर सके।

mp board

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में इस साल 2 महीने की देरी से बोर्ड परीक्षा (board exam) का आयोजन किया जा रहा है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा (10th-12th exam) को लेकर लगातार विभाग (deaprtment) और मंडल द्वारा विद्यार्थियों को फायदा दिया जा रहा है। इसी बीच 10वीं और 12वीं के परीक्षा फॉर्म में हुई गलतियों को सुधारने के लिए छात्रों को एक मौका दिया गया है। लेकिन अब इसमें छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दरअसल 5 फरवरी से परीक्षा फॉर्म (exam form) में संशोधन की प्रक्रिया शुरू की गई है। जो 20 फरवरी 2021 तक चलेगी। बता दें कि 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए छात्रों को परीक्षा फॉर्म में ऑनलाइन संशोधन 5 फरवरी से शुरू किया जाना था लेकिन 13 फरवरी 2021 हो जाने के बाद आज तक पोर्टल (portal) पर संशोधन की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है।

वही छात्रों का कहना है कि ऑनलाइन संशोधन की अंतिम तारीख 20 फरवरी रखी गई है। इस कारण से प्रदेश के सभी स्कूल प्रबंधन और 10वीं और 12वीं के छात्र परेशान हैं। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि एमपी बोर्ड (MP Board) की वेबसाइट पर कई बार मेल किए जाने के बावजूद इस पर अब तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

Read More: MP : बोर्ड परीक्षाओं को लेकर मुरैना कलेक्टर सख्त, शिक्षकों को दिए यह निर्देश

10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के विद्यार्थियों का कहना है कि टोल फ्री नंबर (toll free number) पर कई बार बात किए जाने के बावजूद मंडल द्वारा कोई निश्चित तारीख नहीं बताई जा रही है। वहीं छात्रों की मांग है कि जल्द से जल्द इस परेशानी का निराकरण किया जाए ताकि बोर्ड परीक्षा दी परीक्षा फॉर्म में हुई गलतियों को संशोधन कर सके।

ज्ञात हो कि 10वीं 12वीं के छात्र-छात्राएं परीक्षा फॉर्म में नाम, जन्मतिथि, फोटो, विषय, लिंग में संशोधन कर सकेंगे। इसके लिए संशोधन प्रक्रिया के तहत 25 रुपए शुल्क लिया जाएगा। वही 20 फरवरी के बाद यदि छात्र छात्राएं फॉर्म में संशोधन करते हैं तो उन्हें 300 रुपए शुल्क देना पड़ेगा। वहीँ कक्षा 9वीं, 10वीं और 11वीं में किसी भी नाम के पहले कलेक्टर में संशोधन की अनुमति नहीं होगी। इसके साथ ही कक्षा 12वीं में अन्य राज्य बोर्ड पास/ फेल छात्रों को छोड़कर शेष छात्रों को नाम, पिता के नाम, माता के नाम में संशोधन की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा 2021 की बोर्ड परीक्षा में परीक्षा केंद्रों पर किसी भी प्रकार का संशोधन परिवर्तन मान्य नहीं किया जाएगा।