CBSE

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में 10वीं और 12वीं की प्रायोगिक परीक्षा (practical exam) अप्रैल में शुरू होगी। इससे पहले सरकारी और निजी स्कूलों में प्रैक्टिकल लैब (practical lab) का निरीक्षण किया जाएगा। दरअसल इस मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) ने निर्देश जारी किया है। माध्यमिक शिक्षण मंडल के निर्देश के मुताबिक 12 मार्च तक सभी स्कूलों को अपने-अपने लैब की रिपोर्ट मंडल को सौंपनी होगी।

इतना ही नहीं इन लैप की फोटो भी वेबसाइट (website) पर अपलोड (upload) करने होंगे। मंडल ने कहा है कि जिन स्कूलों में प्रैक्टिकल लैब सबसे उपयुक्त होंगे। उन्हें ही परीक्षा केंद्र (eaxm center) के रूप में चुना जाएगा। इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना (nitin saxena) का कहना है कि पहली बार प्रायोगिक परीक्षा के लिए स्कूलों की प्रैक्टिकल लैब का निरीक्षण किया जाएगा। इसके लिए 3 सदस्य टीम गठित की जाएगी जो निरीक्षण करके लैब की रिपोर्ट मंडल को सौंपी गई।

वही लैब की रिपोर्ट के बाद ही इन स्कूलों को केंद्र के रूप में चयन किया जाएगा। इससे स्कूल में प्रैक्टिकल कार्य की गुणवत्ता में सुधार आएगा। इसके साथ ही माध्यमिक शिक्षा मंडल अपने निर्देश में मूल्यांकनकर्ता के चयन और नियुक्ति की बात कही है। यह मूल्यांकनकर्ता राजधानी के सरकारी (government) और निजी स्कूलों (private school) की जांच करेंगे और निरीक्षण के बाद प्रैक्टिकल लैब की जानकारी वेबसाइट पर 12 मार्च तक देंगे।

Read More: परिवहन विभाग का मामला गहराया, कर्मचारियों ने की मांग तो विधायक ने समर्थन में लिखा पत्र

जिसके बाद 25 मार्च को 10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए प्रैक्टिकल परीक्षा केंद्र का आवंटन किया जाएगा।बता दें कि इससे पहले माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से आए सूचना के मुताबिक 5 अप्रैल को परीक्षा के संबंध में टाइम टेबल (time table) जारी किया जाएगा। वहीं 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के प्रैक्टिकल परीक्षा 15 अप्रैल से 26 अप्रैल तक लिए जाएंगे।

बता दे कि राजधानी के 135 सरकारी स्कूलों में करीब 20 स्कूलों की प्रैक्टिकल लैब की स्थिति खराब है। ऐसी स्थिति में इस साल मंडल द्वारा नया नवाचार किया जा रहा है और प्रायोगिक परीक्षा संपन्न कराने के लिए प्रैक्टिकल लैब की फोटो भी वेबसाइट पर अपलोड कराने की तैयारी की जा रही है।