MP उपचुनाव: दबंगों ने मतदान करने से रोका, नाराज मतदाता ने किया थाने का घेराव

कुशवाहा समाज के लोगों ने सुमावली थाने का घेराव किया है। इससे पहले जतावर में वोटिंग के दौरान हुई फायरिंग में एक व्यक्ति घायल हो गया है जिसका उपचार के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सुमावली, संजय दीक्षित। मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों (28 assembly seats in Madhya Pradesh) पर उपचुनाव (by-election) के लिए मतदान (voting) जारी है। इसी बीच मुरैना (muraina) के सुमावली विधानसभा के अंतर्गत पिपरीपुरा के लोगों को दबंगों द्वारा वोट डालने से रोका जा रहा है। जिसके बाद गुस्साई भीड़ ने सुमावली थाने का घेराव किया है।

दरअसल प्रशासन द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के बावजूद मुरैना जिले के सुमावली विधानसभा में वोटिंग के दौरान फायरिंग (firing) की खबर सामने आई है। जिसके बाद इन बूथों पर पोलिंग (polling) रोक दी गई थी। वही सुमावली के पिपरी पुरा  गांव में गोलीबारी के बाद बूथ पर कब्जा कर जबरन वोट डाले गए। जिसके बाद कुशवाह समाज के लोगों ने आरोप लगाया कि भाजपा प्रत्याशी के समर्थक ने मतदाता की पर्ची फाड़ कर उनके साथ मारपीट की। इसके बाद मौके पर एसपी (SP) और कलेक्टर पहुंचे थे।

वहीं दूसरी तरफ दबंगों द्वारा पिपरी पुरा के लोगों को मतदान से रोके जाने के बाद कुशवाहा समाज के लोगों ने सुमावली थाने का घेराव किया है। इससे पहले जतावर में वोटिंग के दौरान हुई फायरिंग में एक व्यक्ति घायल हो गया है जिसका उपचार के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। इस सीट से कांग्रेस ने अजब सिंह कुशवाहा को टिकट दिया है जबकि बीजेपी ऐंदल सिंह कंसाना को सुमावली की जिम्मेदारी सौंपी है।

Read More: मप्र उप चुनाव के दौरान 23 करोड़ की संपत्ति जब्त, 1 हजार से ज्यादा लाइसेंस रद्द

बता दें कि मतदान केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए मतदान केंद्रों के पड़ोसी जिले से भी पुलिस की तैनाती की गई है। होमगार्ड के लोगों को 6000 अतिरिक्त बल तैनात किए गए हैं। वहीं जिला पुलिस के 10000 विशेष पुलिस अधिकारी भी ड्यूटी पर शामिल किए गए हैं। इसके साथ ही पुलिस ने 578 अपराधियों को जिलाबदर की कार्रवाई करते हुए जिले से बाहर भेजा है। उपचुनाव वाली सीटों से अब तक 1,58,000 लाइसेंसी हथियार जमा कराए गए हैं। जिनमें से 1 हजार से अधिक लाइसेंस को रद्द भी किया गया है। वही उपचुनाव वाले जिले से 3 करोड़ से अधिक रुपए से अधिक की जब्ती की गई है।