MP Corona: कोरोना पर सख्त मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, दिए ये निर्देश

इसके साथ ही इंदौर में कोरोना मरीजों से इंजेक्शन के मनमानी दाम लिए जाने पर बोलते हुए सीएम शिवराज ने निर्देश दिया कि अपने-अपने जिलों में इंजेक्शन के दाम और गाइडलाइंस तय किए जाए।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में कोरोना (Corona) को कंट्रोल करने के लिए सीएम (CM) लगातार समीक्षा बैठक कर रहे हैं। इसके साथ ही वह सख्त निर्देश भी जारी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि प्रदेश के 2 जिलों में विशेष सावधानी रखने की जरूरत है इसके साथ ही जागरूकता और प्रोटोकॉल (protocol) का पालन उचित तरीके से कराया जाए।

दरअसल बैठक के दौरान सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने कहा कि रात में यदि बाजार बंद होने के समय 8:00 से बढ़ाकर 10:00 करने पर सहमति बन जाती है तो इंदौर (Indore) और भोपाल (Bhopal) में बाजार 10:00 बजे बंद किए जाएंगे। इसके साथ ही इंदौर में कोरोना मरीजों से इंजेक्शन के मनमानी दाम लिए जाने पर बोलते हुए सीएम शिवराज ने निर्देश दिया कि अपने-अपने जिलों में इंजेक्शन के दाम और गाइडलाइंस तय किए जाए।

इसके साथ ही सीएम शिवराज ने बताया कि इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह से उनकी चर्चा हुई। मनीष सिंह ने बताया है कि मनमानी रुप से दवाइयों के दाम वसूलने जाने की शिकायतें इंदौर में मिली है और इसके लिए कलेक्टर ने आदेश निकाला है। जिस पर कार्रवाई की जा रही है। इंदौर कलेक्टर ने अस्पताल प्रबंधन को मरीजों द्वारा इंजेक्शन की खरीदी दाम से 20 फीसद ज्यादा रकम लेने की बात कही है। बैठक में इंदौर कलेक्टर ने बताया कि त्यौहारों और शादियों के कारण बढ़ी भीड़ के कारण संक्रमण बढ़ा है। समुदाय के सहयोग से भीड़ को नियंत्रित करने के प्रयास किये जा रहे हैं जिसके सकारात्मक परिणाम शीघ्र मिलने की पूरी उम्मीद है।

Read More: निकाय चुनाव की तैयारियां तेज, 9 दिसंबर को होगा महापौर व अध्यक्ष पद का आरक्षण

दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल और इंदौर में संक्रमण की रोकथाम के लिए सावधानी बरतने की बात कही उन्होंने निजी और जिला अस्पताल में विस्तर, उपकरण और ऑक्सीजन की उपलब्धता पर भी चर्चा की।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जो मरीजों होम आइसोलेशन में है उनसे निरंतर संपर्क में रहा जाए और जरूरत पड़ने पर उन्हें अस्पताल में शिफ्ट किया जाए। शिवराज ने कहा कि प्रदेश के 62% मरीज होम आइसोलेशन में है लेकिन अस्पताल में व्यवस्था पूरी है। जैसे उन्हें जरूरत पड़ेगी उन्हें अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के प्रति जहां भी सावधानी बरती गयी है।  वहाँ परिणाम अच्छे आये हैं। मास्क लगायें, निश्चित दूरी बनाये रखी जाये और बार-बार साबुन से हाथ धोयें। होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज घर से बाहर नहीं निकलें। सरकार प्रत्येक कोरोना मरीज के समुचित इलाज में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

बताया गया कि प्रदेश में एक्टिव केस 13532 हैं। प्रतिदिन औसत 1403 कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने का प्रतिशत बढ़कर 92.1 प्रतिशत हो गया है। औसत पॉजिटिविटी दर 5.5 प्रतिशत है। इसकी साथ ही सीएम शिवराज ने कहा कि संक्रमण की दर में कमी आ रही है लेकिन ढिलाई बरतने की बिल्कुल जरूरत नहीं है। बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी भी शामिल थे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से शामिल थे।