MP Corona : मप्र में संक्रमण की रफ्तार तेज, 5 दिन में 1980 नए मामले, नाइट कर्फ्यू के आसार

प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 3457 पहुंच गई है। वहीं प्रदेश के 52 जिलों में से 39 जिलों में शनिवार को संक्रमित मरीज सामने आए हैं।

MP Corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में एक बार फिर से कोरोना (corona) का कहर शुरू हो गया है। बीते 6 दिनों में मध्यप्रदेश में संक्रमितों का आंकड़ा 1980 के पार जा चुका है। इसको लेकर एक तरफ शिवराज सरकार (shivraj government) द्वारा जिला कलेक्टर (collectors) को सख्त निर्देश दिए गए हैं। वहीं जिला प्रशासन अपनी तरफ से कार्रवाई में लगा हुआ है।

दरअसल शनिवार को आई रिपोर्ट के मुताबिक राजधानी भोपाल (bhopal) में 104 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा इंदौर (indore) में 173 नए मामले सामने आए हैं जबकि जबलपुर में 28 संक्रमितों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा बेतूल, उज्जैन और छिंदवाड़ा में भी तेजी से मरीजों की संख्या में वृद्धि देखी जा रही है। शनिवार को प्रदेश में 467 संक्रमित पाए गए हैं जबकि 2 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई है।

Read More: MP News: अनुकंपा नियुक्ति में नए प्रावधानों का खाका तैयार, आश्रितों को मिलेगा लाभ

बता दें कि महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, कर्नाटक, पंजाब के बाद अब मध्य प्रदेश देश का ऐसा छठा राज्य बन गया है। जहां संक्रमण के फैलाव में तेजी देखी जा रही है। वहीं मार्च महीने की बात करें तो 5 दिन के अंदर प्रदेश में कुल 1980 नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 3457 पहुंच गई है। वहीं प्रदेश के 52 जिलों में से 39 जिलों में शनिवार को संक्रमित मरीज सामने आए हैं।

संक्रमण के इस रफ्तार को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) जल्द इंदौर और भोपाल में नाइट कर्फ्यू (night curfew) का निर्णय ले सकते हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि आज तक यदि प्रदेश के हालात नहीं सुधरे तो नाइट कर्फ्यू पर निर्णय लिया जाएगा।

कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए भोपाल के लिए ट्रेन अविनाश लवानिया (avinashh lavania) ने शहर के 90 हुक्का लाउंज (hukka launge) पर शनिवार से प्रतिबंध लगा दिया है। इस मामले में लवानिया का कहना है कि होटल, रेस्त्रां में बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति दर्ज हो रही है। जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। नए वेरिएंट के आने से मरीजों में बीमारी के नए लक्षण देखने को मिल रहे हैं। हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर पराग शर्मा की माने तो अस्पताल में भर्ती होने वाले संक्रमित में 70 फीसदी केसों में दर्द, पेट दर्द, उल्टी के लक्षण देखे जा रहे हैं।