सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, नए साल पर की यह बड़ी मांग

राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) को पत्र लिखकर बड़ी मांग की है।

ग्वालियर, डेस्क रिपोर्ट। बीजेपी (bjp) में शामिल होने के बाद से ही राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) प्रदेश के विकास को लेकर लगातार केंद्रीय नेताओं से बड़ी मांग रख रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी में शामिल होने के बाद से अबतक मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के लिए 5 बड़ी मांग रख चुके हैं। इस बीच ग्वालियर (gwalior) शहर में उद्योग (Industry) और रोजगार (Employment) को बढ़ावा देने के लिए एक बार फिर राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) को पत्र लिखकर बड़ी मांग की है।

दरअसल राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने धर्मेंद्र प्रधान को पत्र लिखते हुए स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (SAIL) यार्ड ग्वालियर में ही बने रहने देने का अनुरोध किया है। पत्र भी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लिखा है कि ग्वालियर स्थित यार्ड में स्टील अथॉरिटी को लेकर सभी गतिविधियां बंद कर दी गई है और ठेकेदारों के कॉन्ट्रैक्ट भी रिन्यू नहीं किए जा रहे हैं।

Read More:MP News: भाजपा नेत्री पर जानलेवा हमला, अज्ञात बदमाशों ने की फायरिंग, मचा हड़कंप

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने पत्र में लिखा है ग्वालियर स्थित स्टील् यार्ड की गतिविधि बंद होने से कारोबारी परेशान है क्योंकि ग्वालियर से स्थित स्टील् यार्ड में अंचल के सभी फैक्ट्रियों और 150 बड़े कारोबारियों को प्रति महीने 2000 टन स्टील की आपूर्ति की जाती है। अब ऐसी स्थिति में यदि स्टील् यार्ड बंद हो गया तो व्यापारी और उद्योगपति कोई स्टील की आपूर्ति के लिए अन्य राज्यों पर निर्भर होना पड़ेगा।

इसके साथ ही राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने धर्मेंद्र प्रधान से मांग की है कि 44 साल पुराने स्टील् यार्ड को ग्वालियर में यथावत रहने देने पर पुनर्विचार करें और स्टील यार्ड को ग्वालियर नहीं बने रहने दे। बता दे कि स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड ने ग्वालियर स्थिति स्टील यार्ड को लियर से हटाकर कानपुर भेजे जाने का निर्णय लिया है।