MP News: राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव, BJP सांसद ने की कार्रवाई की मांग 

साँसद सिंह ने सभापति महोदय से मांग है कि राहुल गाँधी जी के खिलाफ सदन की अवमानना और विशेषाधिकार हनन की कठोरतम कार्यवाही की जाए।

जबलपुर, संदीप कुमार। लोकसभा में गत दिवस कांग्रेस नेता एवँ साँसद राहुल गांधी द्वारा सदन की गरिमा को ठोकर मारते हुए सदन की अवमानना करने के लिए लोकसभा के मुख्य सचेतक एवँ जबलपुर साँसद राकेश सिंह ने लोकसभा अध्यक्ष के समक्ष राहुल गांधी के खिलाफ विषेशाधिकार हनन का प्रस्ताव देते हुए कार्यवाही की मांग की है।

साँसद राकेश सिंह ने सदन में राहुल गाँधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव देते हुए कहा कि भारत के लोकतंत्र का सम्पूर्ण विश्व में सम्मान है और हमारे प्रधानमंत्री जी ने कहा भी है यह सिर्फ सबसे बड़ा लोकतंत्र ही नही अपितु अत्यंत प्राचीन भी है। मेरा अनुभव है कि जो सदस्य पहली बार सदन में चुनकर आते है वे भी जानते है कि लोकतंत्र का यह सर्वोच्च मंदिर नियमो और परंपराओं से चलता है। परंतु चार बार का कोई मंद बुद्धि बालक साँसद इस बात को नही जानता। वह स्वयं इस बात को नही जानता तो कोई बात नही परंतु अपनी अनभिज्ञता के कारण वह सदन की गरिमा को ठोकर मारे यह स्वीकार नही है।

साँसद राकेश सिंह ने कहा 11 फरवरी को इस सदन में यही हुआ और कांग्रेस के नेता व चार बार के साँसद राहुल गांधी ने लोकसभा में जो असंसदीय आचरण किया। वह संसदीय गरिमा और प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने वाला है।आपकी अनुमति लिए बिना प्रोटेटेस्ट लिए दो मिनिट का मौन संसदीय विचार प्रवाह को स्तब्ध करने वाली घटना है। यह आचरण सदन की गरिमा और प्रतिष्ठा को कलंकित करने वाला है।

Read More: Jabalpur News : मंदिर में खेल रहे थे जुआ, पुलिस को देखते ही लगाने लगे माता के जयकारे

साँसद राकेश सिंह ने कहा कि राहुल गांधी सदन में अगर मौन रखना चाहते थे तो उन्हें इसके लिए आपको सूचना देकर संसदीय प्रक्रिया के अनुसार कार्यवाही का आग्रह करना था। लेकिन कांग्रेस के युवराज को प्रक्रिया और नियमों को निभाना उनके वंशानुगत राज करने के अहंकार के सामने जरूरी नही लगता। यह घटना असंवैधानिक और अनुचित है जो विशेषाधिकार और सदन की अवमानना के अंतर्गत आती है।

साँसद सिंह ने कहा कि कई अवसरों पर हमने देखा और अनुभव किया है कि संसद की प्रतिष्ठा और गरिमा का चीरहरण करना राहुल जी की प्रवत्ति बनती जा रही है और राहुल गांधी के संस्करो में नियम और प्रक्रिया में रहना दिखाई नही देता। वे जब भी सदन में किसी विषय पर संवाद करते है तो हमेशा गरिमा के साथ खिलवाड़ करते है।

उनकी बातों का न कोई आधार होता है और न कोई साक्ष्य होता है। केवल झूट की बुनियाद होती है और देश को भ्रमित करने का देश को तोड़ने का। देश को नीचा दिखाने का एकमात्र एजेंडा होता है। साँसद सिंह ने सभापति महोदय से मांग है कि राहुल गाँधी जी के खिलाफ सदन की अवमानना और विशेषाधिकार हनन की कठोरतम कार्यवाही की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here