पंचायत चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में आगामी नगर निकाय चुनाव (Municipal elections) के साथ होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Three tier panchayat elections) की तैयारियां भी जोरों शोरों पर है। राज्य निर्वाचन आयोग (State election commission) पंचायत चुनाव (panchayat elections) की तैयारी में लगा हुआ है। इसके लिए आयोग द्वारा चुनाव का चरणबद्ध कार्यक्रम जिला निर्वाचन अधिकारी को भेजा जा रहा है। साथ ही निर्वाचन आयोग ने जिला कलेक्टरों को 15 मार्च 2021 तक जिले के प्रस्तावित संशोधन और अन्य जानकारी अनिवार्य रूप से आयोग को उपलब्ध कराने की बात कही है।

दरअसल राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव डीबी सिंह (DB Singh) ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को चुनाव कार्यक्रम के संबंध में पत्र भेजा है। वही जानकारी के मायने 2014-15 के चुनाव को आधार मानकर ईवीएम (EVM) प्रबंधन और मशीन की उपलब्धता के आधार पर विकास खंडों का तीन चरणों में विभाजन किया गया है।

Read More: गेंहू काटने गए किसान की आकाशीय बिजली गिरने से मौके पर हुई मौत

बता दें कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव तीन चरणों में कराए जाएंगे। वहीं जनपद पंचायत के सदस्यों का चुनाव ईवीएम के जरिए कराया जाएगा। जबकि सरपंच का चुनाव मत पत्र के जरिए होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने 38 जिले में 2014-15 के चुनाव को आधार मानकर ईवीएम के प्रबंधन और मशीन की उपलब्धता के आधार पर विकास खंडों का समूह बनाकर तीन चरणों में विभाजित करने की बात कही है। इसके साथ ही 38 जिलों को 2014-15 के चुनाव के कार्यक्रम के मुताबिक रखा गया है।

वहीं प्रदेश में कुल 23912 ग्राम पंचायतें हैं। जिसमें पंचायत चुनाव के प्रथम चरण में 7527 ग्राम पंचायत, दूसरे चरण में 7571 और तीसरे चरण में 8814 ग्राम पंचायतों का चुनाव करवाया जाएगा। कलेक्टर को संशोधन सहित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी 15 मार्च तक राज्य निर्वाचन आयोग उपलब्ध कराने होगी। वही जानकारी आने के बाद ही पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जाएगा।