नगर निकाय चुनाव : तारीखों के ऐलान पर संशय के बीच इस पार्टी ने तैयार की लिस्ट

मध्य प्रदेश में आगामी नगरीय निकाय चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान किया जाना था लेकिन इससे पहले हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच द्वारा निकाय में आरक्षण प्रक्रिया पर स्टे ऑर्डर दे दिया गया है।

निकाय चुनाव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (mdhya pradesh) में आगामी नगर निकाय चुनाव (Urban body elections) को देखते हुए एक बार फिर से पार्टियां ने अपनी रणनीतियां तेज कर दी है। एक तरफ जहां बीजेपी (bjp) कांग्रेस (congress) जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं से संवाद कर बड़ी-बड़ी तैयारियां कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ अन्य राजनीतिक पार्टियां भी नगरीय निकाय चुनाव में अपना भाग्य आजमाने को तैयार है। इसी बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (arvind kejriwal) ने भी मध्य प्रदेश के नगर निकाय चुनाव को लेकर प्रदेश में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है।

दरअसल अरविंद केजरीवाल हर दूसरे दिन मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव को लेकर फिर कार्ययोजना की समीक्षा कर रहे हैं। वही निकाय चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की दूसरी सूची (2nd list) भी तैयार कर ली गई है। माना जा रहा है कि जल्द ही केंद्रीय पदाधिकारी और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय (gopal rai) प्रदेश दौरे पर रहेंगे।

ज्ञात हो कि इससे पहले आम आदमी पार्टी ने निकाय चुनाव के लिए अपने 107 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी है। वहीं दूसरी सूची भी लगभग तैयार है। इस मामले में आम आदमी पार्टी के नेताओं का कहना है कि नगरीय निकाय चुनाव में आम आदमी अपने भाग्य आजमाएगी। हालांकि विधानसभा उपचुनाव में पार्टी द्वारा उम्मीदवार खड़े किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका सीधा सीधा असर निकाय चुनाव पर पड़ेगा। जो कि पार्टी नहीं चाहती थी। वही नगर निकाय चुनाव में अच्छी सीट पर जीत दर्ज करने के लिए आम आदमी के कार्यकर्ता लगातार मतदाताओं के संपर्क में है।

Read More: Chhatarpur News: दोषी पाए जाने के बाद भी DPC पर नहीं हुई कार्रवाई, कमिश्नर ने दिए थे आदेश

इस मामले में आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह (pankaj singh) का कहना है कि आम आदमी पार्टी निकाय चुनाव में उम्मीदवार उतारेगी। इसके लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार संपर्क में है और पार्टी की गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं। केंद्रीय स्तर से प्राप्त निर्देशों के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता मैदानी तैयारी में जुटे हैं। वहीं प्रत्याशियों की दूसरी लिस्ट भी जल्द जारी कर दी जाएगी।

बता दें कि मध्य प्रदेश में आगामी नगरीय निकाय चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान किया जाना था लेकिन इससे पहले हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच द्वारा निकाय में आरक्षण प्रक्रिया पर स्टे ऑर्डर दे दिया गया है। इसके बाद एक बार फिर से तारीखों के ऐलान को लेकर संशय की स्थिति बन गई है। दूसरी तरफ प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेज कर दी गई है। इसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि निकाय चुनाव से पहले प्रदेश में पंचायत चुनाव कराए जा सकते हैं।

नगर निकाय चुनाव के लिए दिशा निर्देश दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तरफ से भी कार्यकर्ताओं को भेजे जा रहे हैं। इतना ही नहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार प्रदेश के बड़े नेताओं के दौरे पर नजर बनाए हुए हैं। वही पार्टी पदाधिकारियों द्वारा दिशा निर्देश के बाद ही रणनीति तैयार की जा रही है।