6 बीघा जमीन पर लहलहा रही थी अफीम की खेती, नारकोटिक्स ने चलाया बुलडोजर

अफीम की खेती की कीमत करीब 3 करोड़ बताई जा रही है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। नारकोटिक्स विभाग (Narcotics Department) ने जिला प्रशासन (District administration) की मदद से शहर के अंदर 6 बीघा जमीन पर की जा रही अफीम की खेती को नष्ट कर दिया। नष्ट की गई जमीन की कीमत 3 करोड़ रुपये बताई जा रही है। मौके से एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया है।

नारकोटिक्स विभाग ने शनिवार की देर शाम जिला प्रशासन की टीम के साथ मिलकर न्यू सिटी सेंटर स्थित डोंगरपुर मौजे में 6 बीघा जमीन पर अफीम की खेती पकड़ी है। नारकोटिक्स विभाग को सूचना मिली थी कि डोंगरपुर मौजे में अफीम की खेती हो रही है। इस सूचना पर उसने जिला प्रशासन की टीम के साथ डोंगरपुर क्षेत्र में छापा मारा। प्रशासन की टीम को यहाँ सर्वे नंबर 406,407,408 पर करीब छह बीघा जमीन पर अफीम की खेती लहलहाती मिली।

Read More: Breaking: सबसे पहले MP Breaking News पर गिरीश गौतम…देखिये वीडियो

अफीम के पौधों में फूल आना शुरू हो गए थे। इस खेती को देखकर अधिकारी भी हैरान रह गए। खेती करीब तीन से चार महीने पुरानी लग रही थी। टीम को खेत पर पूरन सिंह कुशवाह काम करते मिला जिसे टीम ने गिरफ्तार कर लिया। टीम ने बुलडोजर चलाकर अफीम की खेती को नष्ट कर दिया। अफीम की खेती की कीमत करीब 3 करोड़ बताई जा रही है।

पूरन सिंह को नारकोटिक्स की टीम अपने साथ ले गई और उससे पूछताछ कर रही है। बताया जा आरहा है कि पूरन सिंह दो लोगों के नाम बताए हैं, जिसके लिए वो अफीम की खेती करते है । जिन लोगों के नाम बताए हैं, उनकी तलाश शुरू कर दी है। नारकोटिक्स ने एनडीपीएस के तहत पूरन सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

बताया जा रहा है कि सर्वे क्रमांक 406 व 407 इंटीग्रेटेड डॉट काम प्राइवेट लिमिटेड के नाम है। इस फर्म की मालकिन जानकी पत्नी दमोदर झंवर हैं। जबकि सर्वे क्रमांक 408 तेज सिंह व सुनील गांधी के नाम है। इन जमीनों पर कब्जे की बात सामने निकल कर आ रही है। नारकोटिक्स और जिला प्रशासन भूमि स्वामियों को तलाशकर हकीकत तलाशने में जुट गया है।