तारीखों के ऐलान के बाद नरोत्तम मिश्रा का कमलनाथ पर बड़ा बयान

कांग्रेस ने सत्ता में होने के बाद भी तब वादा पूरा नहीं किया था। किसानों की कर्ज माफी और अतिथि विद्वानों के नाम पर ट्वीट करके अब राजनीति कर रहे हैं जबकि सत्ता में रहते हुए उन्होंने उनके लिए कुछ नहीं किया- नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्य प्रदेश(madyapardesh) के इतिहास में पहली बार 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव(byelection) होने जा रहे हैं। इस बीच प्रमुख पार्टियों के नेताओं का एक दूसरे पर तंज का सिलसिला जारी है। वही उपचुनाव में मंगलवार एक अजीब संयोग लेकर बैठा है।  जिसके बाद विपक्ष लगातार अपने मुख्यमंत्री चेहरे कमलनाथ (kamalnath)को हनुमान भक्त बता रहा है। जिसपर अब प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा(Narottam mishra) ने चुटकी ली है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि हनुमान भक्त हम भी, देखते हैं हनुमान किसका करेंगे मंगल।

दरअसल बुधवार को मीडिया से बात करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि अपनी घोषणापत्र में बड़ी-बड़ी घोषणाएं करने वाले अब घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं। बीजेपी को कोसने की बजाय अगर 15 महीने में उन्होंने कोई कार्य किया होता तो आज इसकी जरूरत नहीं होती। कांग्रेस ने सत्ता में होने के बाद भी तब वादा पूरा नहीं किया था। किसानों की कर्ज माफी और अतिथि विद्वानों के नाम पर ट्वीट करके अब राजनीति कर रहे हैं जबकि सत्ता में रहते हुए उन्होंने उनके लिए कुछ नहीं किया। जनता इनका चेहरा जान चुकी है।

हनुमान भक्त हम भी- नरोत्तम मिश्रा

इधर उपचुनाव में मंगलवार के अजीब संयोग के सवाल पर जवाब देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस मैं अगर सब इतना ही मंगल था तो ऐसा अमंगल होता ही नहीं। हम भी हनुमान भक्त हैं। बाकी यह हनुमान ही तय करेंगे कि इस उपचुनाव में किसका मंगल होना है और किसका अमंगल।

कमलनाथ खुद को जान जाएंगे

पीसीसी चीफ कमलनाथ पर निशाना साधते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ खुद कह रहे हैं कि वह खुद को जानते हैं। जनता भी उन्हें जान चुकी है। हालांकि 10 नवंबर को जब उपचुनाव के नतीजे आएंगे। तब कमलनाथ खुद को जान जाएंगे।

वही कोरोना पर बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में रिकवरी रेट में काफी सुधार आया है। अगर आने वाले 15 दिनों में स्थिति ऐसी बनी रही तो यह सुखद अनुभव है अन्यथा इस पर पुनर्विचार किया जाएगा। वहीं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना के इस संक्रमण काल में मास्क सबसे बेहतर उपाय है। हमें मास्क लगाना चाहिए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्र सरकार द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करना चहिए।