अब 2 से 18 साल के बच्चों पर होगा को-वैक्सिन का क्लिनिकल ट्रायल! हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला

दरअसल दिल्ली हाईकोर्ट ने 2 से 18 साल के बच्चों पर कोरोना वैक्सीन को-वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल पर रोक लगाने से इनकार किया गया।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश भर में कोरोना (corona) की दूसरी लहर थमती नजर आ रही है। लगातार कोरोना के संक्रमण के बीच सरकार अब बच्चों के वैक्सीन (vaccine) पर जोर दे रही है। वही 2 से 18 साल के बच्चों पर भी कोरोना वैक्सीन Covaxin के ट्रायल किए जाने की खबर सामने आ रही है। इसी बीच दिल्ली हाईकोर्ट (delhi high court) में वैक्सीन के बच्चों पर क्लिनिकल ट्रायल (clinical trial) पर रोक लगाने की मांग की गई थी। इस मामले में आज दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस भेजा है।

दरअसल दिल्ली हाईकोर्ट ने 2 से 18 साल के बच्चों पर कोरोना वैक्सीन को-वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल पर रोक लगाने से इनकार किया गया। जिसके बाद मुमकिन है कि जल्द बच्चों के लिए भी कोरोना वैक्सीन देश में उपलब्ध हो जाएगी। हालांकि हाई कोर्ट ने एक याचिका पर केंद्र सरकार और डीसीजीआई को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इसके साथ ही कोर्ट ने 15 जुलाई तक याचिका पर रुख स्पष्ट करने की बात कही है।

Read More: Transfer: एसपी रैंक के इन पुलिस अधिकारियों के तबादले, यहाँ देखे लिस्ट

इतना ही नहीं हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार के साथ ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को भी नोटिस जारी किया है। बता दे कि नीति आयोग के सदस्य बीके पौल की माने तो 2 से 18 साल के बच्चों पर Covaxin को क्लिनिकल ट्रायल को अनुमति दे दी गई है जहां 10 से 12 दिनों में क्लीनिकल ट्रायल शुरू किया जाएगा। बता दें कि DCGI ने को वैक्सीन के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दी है।

बता दे कि विशेषज्ञ लोगों द्वारा लगातार दावा किया जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों पर भारी पड़ने वाली है। जहां बड़ी संख्या में छोटे बच्चे संक्रमण की चपेट में आएंगे। इसके लिए देश के विभिन्न राज्य में तैयारियां शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही बच्चों के वैक्सिन के लिए भी राज्य समेत केंद्र सरकार द्वारा लगातार कोशिश जारी है। इस बीच अब दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार को अपना रुख स्पष्ट करने की बात कही है।