ग्वालियर, अतुल सक्सेना। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse)को अपना आदर्श मानने वाली हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) ग्वालियर में गोडसे (Godse)का मंदिर बनाने की पहले घोषणा कर चुकी है। अब पार्टी ने अपने कार्यालय में गोडसे ज्ञानशाला (Godse Gyanshala)का शुभारंभ किया है। शुभारंभ के दूसरे दिन पार्टी ने गोडसे (Godse)की तस्वीर को भगवान की तस्वीर के साथ रखा, पूजा अर्चना की और उसके सामने सुंदरकांड का पाठ एवं भजन कीर्तन किये।

ग्वालियर के दौलत गंज में स्थित हिंदू महासभा(Hindu Mahasabha) के पार्टी कार्यालय में रविवार को हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha)ने गोडसे ज्ञानशाला (Godse Gyanshala)का शुभारंभ किया। पार्टी नेताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) के चित्र पर तिलक किया और उसकी आरती उतारी।

इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ जयवीर भारद्वाज (Dr jaiveer Bhardwaj)ने कहा कि गोडसे ज्ञानशाला (Godse Gyanshala) के माध्यम से हम नई पीढ़ी को देश का सही इतिहास बतायेंगे। आजादी के लिए जान देने वाले बलिदानियों की जानकारी देंगे। नई पीढी को नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) का वो बयान भी बतायेंगे जो उन्होंने फांसी की सजा से पहले कोर्ट में दिया था जिससे उनकी उस देशभक्त भावना को बताया जायेगा जो अबतक छिपा कर रखी गई। डॉ भारद्वाज ने चेतावनी दी कि देश को तोड़ने वालों को हिंदू महासभा बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि अब यदि किसी ने देश का विभाजन करने की कोशिश की तो हिंदू महासभा फिर नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse)पैदा करेगी।

गोडसे ज्ञानशाला Godse Gyanshala)शुभारंभ के दूसरे दिन आज सोमवार को पार्टी कार्यालय में हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) ने सुंदरकांड का पाठ और भजन कीर्तन का आयोजन किया। पार्टी नेताओं ने नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) की तस्वीर को भगवान की तस्वीरों के साथ रखा और तस्वीर की पूजा अर्चना की। हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) नेताओं ने कहा कि स्थानीय प्रशासन और सरकार 2017 में हमारे कार्यालय से नाथूराम गोडसे की मूर्ति ले गई थी उससे क्या होता है? हमने गोडसे ज्ञानशाला (Godse Gyanshala)शुरू की है जिसके माध्यम से हम नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) की बातों को बाहर लायेंगे जो अब तक छिपा कर रखी गई थीं। नेताओं ने कहा कि सरकार हमें पहले भी जेल में डाल चुकी हैं हम फिर जेल जाने को तैयार है हम तो फांसी पर चढ़ने के लिए भी तैयार हैं।

दूसरे दिन भी हुई गांधी की हत्यारे की पूजा, भगवान की तस्वीर के साथ रखी गोडसे की फोटो

दूसरे दिन भी हुई गांधी की हत्यारे की पूजा, भगवान की तस्वीर के साथ रखी गोडसे की फोटो