यूरिया को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की किसानों को बड़ी राहत

प्रदेश के सरकारी क्षेत्रों में अब तक 4800 विक्रय केंद्र बनाए गए हैं। जहां सहकारी समितियों, एमपी एग्रो के माध्यम से किसानों को यूरिया का नगद वितरण भी किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 28 विधानसभा सीटों (28 assembly seats) पर उपचुनाव (By-election) के मतदान (voting) के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) एक बार फिर एक्शन में आ गए हैं। गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में यूरिया (Urea) की व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक की। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसानों को उनकी आवश्यकता अनुसार पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध कराया जाए।

दरअसल गुरुवार को समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश को पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 2 गुना अधिक यूरिया प्राप्त हुआ है। पिछले वर्ष यहां तीन लाख आठ हजार मैट्रिक टन यूरिया मिला था वहीं इस वर्ष अभी तक 6.09 लाख मीट्रिक टन यूरिया प्रदेश को मिल चुका है। सीएम शिवराज ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसानों को किसी भी हालत में यूरिया की कमी का सामना ना करना पड़े। पर्याप्त मात्रा में किसान भाइयों को यूरिया उपलब्ध कराया जाए।

बैठक में बताया गया कि प्रदेश में किसानों को यूरिया ‘पीओएस’ मशीन द्वारा दिया जा रहा है। इसके अलावा भारत सरकार द्वारा ‘बायोमेट्रिक स्केनर डिवाइस’ और ‘एंड्राइड मोबाइल ऐप’ के माध्यम से भी किसानों को यूरिया उपलब्ध कराए जा रहे हैं। वही प्रदेश के सरकारी क्षेत्रों में अब तक 4800 विक्रय केंद्र बनाए गए हैं। जहां सहकारी समितियों, एमपी एग्रो के माध्यम से किसानों को यूरिया का नगद वितरण भी किया जा रहा है। इस साल में प्रदेश में सरकारी और निजी क्षेत्र में यूरिया के वितरण का अनुपात 70:30 सुनिश्चित किया गया है।

बता दें कि पिछले वर्ष प्रदेश में किसानों को 17 लाख 98 हजार मैट्रिक टन यूरिया उपलब्ध कराया गया था। जिस को आधार मानकर इस वर्ष इतनी ही मात्रा में यूरिया की व्यवस्था प्रदेश में की जा रही है। वहीं पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष प्रदेश में किसानों को 27% अधिक यूरिया का वितरण किया जा चुका है। भारत सरकार द्वारा नवंबर के लिए प्रदेश को 7 लाख 3 हज़ार मीट्रिक टन यूरिया आवंटित किया गया है। जिसमें स्वदेशी यूरिया 2 लाख 30 हजार मीट्रिक टन और आयातित यूरिया 4 लाख 73 हजार मीट्रिक टन उपलब्ध हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here