भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ जहां शिवराज सरकार (shivraj government) ने कोरोनावरियर्स (corona warriors) को सम्मानित करते हुए संकट काल के दौरान उनका आभार प्रकट किया है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस द्वारा कोरोनावरियर्स नर्सेस से बदतमीजी की जा रही है। दरअसल मामला गुरुवार देर शाम का है। सतपुड़ा भवन पहुंची पोस्टिंग (posting) से नाराज नर्सों (nurses) के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया जा रहा है।

दरअसल स्वास्थ्य विभाग की अपर संचालक से बीते दिनों नाराज नर्स ने मुलाकात की लेकिन मांग पूरी ना होने की वजह से नर्सेस द्वारा भवन के गेट पर प्रदर्शन किया गया। इस दौरान अरेरा हिल्स थाने के टीआई आरके सिंह (TI R.K.Singh) ने उसको वहां से हटने की सलाह दी लेकिन जब नर्स द्वारा उनकी बात को नहीं माना गया तो उन्होंने महिला पुलिसकर्मी की मदद से उन नर्सेस को भवन गेट से हटाया।

इस दौरान जब कुछ नर्सेस फिर आकर सतपुड़ा भवन के गेट पर पहुंचे तो टीआई आरके सिंह द्वारा लाउडस्पीकर पर धमकी भरे अंदाज में नर्सेस को भवन का गेट खाली करने की बात कही गई। इस दौरान टीआई आरके सिंह ने कहा जूते खा कर ही मानोगे क्या? नहीं मान रही तो लोगों को दो-दो हाथ। हटाओ यहां से।

Read More: इंदौर: सख्त हुआ कोरोना कर्फ्यू, धारा 144 के आदेश जारी, ये सुविधा रहेगी प्रतिबंधित

वही सतपुड़ा भवन गेट पर प्रदर्शन करेंगे। उसका कहना है कि पिछले 1 महीने से ड्यूटी दे रही है। बावजूद इसके आज तक किसी ने उनसे से बात नहीं की है। इस मामले में टीआई ने अपना बचाव करते हुए कहा कि नर्सेस से ऐसी कोई बात नहीं कही गई है। नर्स अपने बचाव के लिए मुझ पर आरोप लगा रही हैं।

कोरोना काल में लगातार ड्यूटी देने के बाद नर्स द्वारा सतपुड़ा भवन पहुंचकर अपनी पोस्टिंग के सिलसिले में स्वास्थ विभाग के अपर संचालक सपना लोवंशी से मुलाकात की गई। इस दौरान उनकी मांगों को नहीं माना गया जिसके बाद नर्स द्वारा प्रदर्शन किया गया था।