डिप्टी सीएम

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राज्य में BJP प्रशासन के कार्य के विरुद्ध बीजेपी नेताओं ने विरोध जताना शुरू कर दिया है। BJP नेता पार्टी के कार्य से संतुष्ट नहीं हैं। जिसको लेकर कई बार राज्य बीजेपी में असंतोष देखने को मिला है। वही अब एक मामले में प्रदेश बीजेपी की कार्यशैली से नाराज पार्टी के महासचिव अब्दुल हमीद मुलीपुझा (abdul hameed mulipuzha) सहित कई बीजेपी नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा (resign) दे दिया है।

दरअसल लक्षद्वीप BJP (lakshadweep bjp) के अध्यक्ष अब्दुल खादर की शिकायत के बाद लक्षद्वीप पुलिस द्वारा फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना (Ayesha Sultana) पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था। जिस कार्य को अनुचित और झूठा बताते हुए बीजेपी के कई नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इस मामले में पार्टी का कहना है कि टीवी चैनल पर बहस के दौरान सुल्ताना ने केंद्र शासित प्रदेश में कोरोना के प्रसार के बारे में झूठी खबर फैलाई थी। जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है।

Read More: Lockdown Return: फिर बढ़े कोरोना के केस, राज्य में इतने दिन बढ़ाया गया लॉकडाउन

इस्तीफा देने वाले नेताओं ने बीजेपी अध्यक्ष अब्दुल खादर को पत्र लिखकर शिकायत की है कि एक झूठी और अनुचित कार्रवाई कर आयशा सुल्ताना के परिवार के भविष्य को बर्बाद किया जा रहा है। मामले में आयशा सुल्ताना का पक्ष रखने वाले बीजेपी नेताओं का कहना है कि लक्षदीप में कई बीजेपी नेता पहले भी प्रशासन और जिला कलेक्टर के बारे में गलत गलत कामों पर बोल चुके हैं। इसी तरह से सुल्ताना ने भी मीडिया में अपनी राय रखी थी। जिसमें कुछ भी अनुचित नहीं है। बावजूद इसके ऊपर राजद्रोह का मामला लगाकर उनके साथ नाइंसाफी की जा रही है।

बता दें कि इससे पहले पिछले महीने ही कम से कम 8 बीजेपी नेताओं ने पार्टी के कार्यशैली से असंतुष्ट होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। वही एक टीवी चैनल में बहस के दौरान आयशा सुल्ताना द्वारा कहा गया था कि केंद्र ने लक्ष्यदीप में कोरोना को जैव हथियार के रूप में इस्तेमाल किया है। जिस पर सियासत गरमा गई थी।