कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक : ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ मैदान में उतरेंगे सचिन पायलट

इनमें एक नाम राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) का भी है जो कभी ज्योतिरादित्य सिंधिया के दोस्त हुआ करते थे अब सिंधिया के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) 28 विधानसभा सीटों (Assembly Seat) पर होने जा रहे उपचुनाव (By-election) के लिए कांग्रेस (Congress) ने आज अपने स्टार प्रचारकों (Star Campaigners) की लिस्ट जारी कर दी है। इसमें कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के साथ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot), छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Siddhu) और सचिन पायलट मुख्य स्टार प्रचारक के तौर पर होंगे। इसके अलावा मध्य प्रदेश के नेताओं को इस सूची में ज्यादा स्थान दिया गया है।

मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव को लेकर राजनीति गरमाई हुई है। काग्रेस ने चुनाव प्रचार के लिए 30 महारथी मैदान में उतारे हैं। इनमें एक नाम राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) का भी है जो कभी ज्योतिरादित्य सिंधिया के दोस्त हुआ करते थे अब सिंधिया के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे। कांग्रेस ने विधानसभा की करीब आधा दर्जन ग्वालियर चंबल संभाग की सीटों पर गुर्जर वोटों का प्रभाव देखते हुए कद्दावर युवा नेता राजस्थान के सचिन पायलट को पार्टी के प्रचार प्रसार के लिए मैदान में उतारने का फैसला किया है। सचिन पायलट सिंधिया समर्थकों के खिलाफ प्रचार करेंगे।

सचिन पायलट और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया आपस में अच्छे मित्र हैं लेकिन वे विधानसभा उपचुनाव में एक-दूसरे के खिलाफ अपनी अपनी पार्टी का प्रचार करेंगे। सिंधिया जहां अपने दल यानी बीजेपी के प्रत्याशियों के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश करेंगे तो वही सचिन पायलट भी कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार करेंगे। इसके पीछे पार्टी की सोच है कि सचिन पायलट ग्वालियर चंबल अंचल से चिर परिचित हैं उनके प्रभाव का कांग्रेस पार्टी को लाभ होगा। कांग्रेस का कहना है कि यह दो दोस्तों के बीच मुकाबला होगा।

ग्वालियर चंबल में गुर्जर वोटों को साधने के लिए सचिन पायलट और पिछले विधानसभा चुनाव में नवजोत सिंह सिद्धू की भारी मांग को देखते हुए उन्हें उपचुनाव में भी स्टार प्रचारक बनाया गया है। इसके अलावा ज्यादातर मध्य प्रदेश के नेताओं को स्टार प्रचारक की सूची में स्थान दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here