सिंधिया आज पहुंचे अपने सरकारी आवास, 18 साल के इंतजार के बाद अलॉट हुआ बंगला

सिंधिया को बंगला बी-5 आंवटित किया गया है। पहले यहां पूर्व मंत्री हनी सिंह बघेल रहा करते थे।

ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राज्यसभा सांसद व भाजपा के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) को भोपाल में आखिरकार सरकारी बंगला मिल ही गया। उन्होंने इसके लिए 2 साल पहले आवेदन किया था और अब जाकर उन्हें यह बंगला अलॉट किया गया है। उन्होंने 23 मई 2018 को इस बंगले के लिए आवेदन किया था। उस समय राज्य में भाजपा की सरकार थी और विधानसभा के चुनाव होने वाले थे।

आज पधारे अपने सरकारी आवास में सिंधिया
बंगला अलॉट होने के 24 दिन बाद रविवार सुबह ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने सरकारी निवास पर पहुंचे। बता दें कि उन्हें श्यामला हिल्स पर बंगला बी-5 दिया गया है। आज सुबह ही नई दिल्ली से वे फ्लाइट से भोपाल पहुंचे है। बंगले पर पहुंचने पर कार्यकर्ताओं और सर्मथकों ने उनका भव्य स्वागत किया। उनके साथ परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और मंत्री तुलसी सिलावट भी मौजूद थे।

Read More: Valentine’s Day पर प्रभास-पूजा ने दिया अपने फैन्स को तोहफा, जारी हुआ ‘राधे श्याम’ का टीजर

उमा भारती के पड़ोसी बने सिंधिया
सिंधिया को बंगला बी-5 आंवटित किया गया है। पहले यहां पूर्व मंत्री हनी सिंह बघेल रहा करते थे। उमा भारती बंगला नंबर बी-6 में रहती है, जो बी-5 के करीब है, इसके चलते सिंधिया अब उमा भारती के पड़ोसी हो गए हैं। इसके अलावा दिग्विजय सिंह भी 3 बंगले छोड़ कर B-1 में रहते हैं। सिंधिया का बंगला उमा और दिग्विजय से बड़ा है और डेढ़ एकड़ में फैला हुआ है।

2019 में खाली किया था दिल्ली का सरकारी आवास
लोकसभा चुनाव हारने के बाद सिंधिया ने दिल्ली का सरकारी आवास (27 सफदरजंग रोड) 27 जुलाई 2019 को खाली कर दिया था। गुना से सांसद रहते हुए करीब तीन साल पहले सिंधिया ने मध्यप्रदेश सरकार (मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के तीसरे कार्यकाल में) से भोपाल में सरकारी बंगले के लिए आवेदन किया था , लेकिन उस समय उनका आवेदन करीब छह माह तक लंबित रहा।

उस दौरान सिंधिया विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष थे। सिंधिया अपना बेस कैंप भोपाल को बनाना चाहते थे। हालांकि सिंधिया ने कमलनाथ सरकार में भी आवास के लिए प्रयास किया था लेकिन फिर 2019 में वह लोकसभा चुनाव हार गए और उन्हें बंगला नहीं मिल पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here