फर्जी क्लीनिक पर प्रशासन का छापा, सील, दवाइयां और ड्रिप के कट्टे बरामद

इस संबंध में डॉ. देवेंद्र खरे ने बताया कि क्षेत्र में ऐसे बहुत झोलाछाप डॉक्टर की सूचना मिलती है तो तत्काल मौके पर पहुंचकर कार्रवाई की जाती है।

शिवपुरी, शिवम पांडेय। जिले के करैरा अनुविभाग अंतर्गत के ग्राम आमोलपठा में गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग सहित पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा एक फर्जी डॉक्टर के फर्जी क्लीनिक पर छापामार कार्रवाई की गई। इस दौरान डॉक्टर की क्लीनिक में 5 मरीजों के यहां ड्रिप चढ़ाई जा रही थी। साथ ही बड़ी मात्रा में दवाइयां व् ड्रिप के कट्टे जब्त किए हैं। साथ ही टीम द्वारा क्लीनिक को सील कर दिया है।

जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हमें कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि गांव में संचालित गरिमा चिकित्सालय के संचालक आशीष जैन द्वारा अपने क्लीनिक पर कोरोना कैंप के दौरान भीड़ लगा कर मरीजों का इलाज किया जा रहा है। बल्कि भर्ती कर ड्रिप तक चलाई जा रही है। जिससे मरीजों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ हो रहा है।

Read More: MIG – 21 फाइटर प्लेन दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत, IAF ने दिए जाँच के आदेश

इस पर विभाग की टीम ने पुलिस के साथ चिकित्सालय पर छापा मारा तो चिकित्सालय में 5 मरीजों को ड्रिप चढ़ाई जा रही थी। साथ ही अन्य मरीजों की भीड़ लगी हुई थी। दवाइयां व ट्रिप की जब्तः क्लीनिक से बड़ी मात्रा में एलोपैथिक दवाइयां पाई गईं।

भीड़ एकत्रित और ऐलोपैथिक दवाइयां के संबंध में आशीष जैन से जब जानकारी मांगी तो वह किसी बात का उतर नहीं दे सके। बीएमओ डॉ. बीके रावत, डॉ.देवेंद्र खरे व चौकी प्रभारी आमोलपठा पुनीत बाजपेयी व उनकी टीम ने क्लीनिक को सील कर कार्रवाई की। वहीं इस संबंध में डॉ. देवेंद्र खरे ने बताया कि क्षेत्र में ऐसे बहुत झोलाछाप डॉक्टर की सूचना मिलती है तो तत्काल मौके पर पहुंचकर कार्रवाई की जाती है।