शिवराज कैबिनेट की बैठक संपन्न, किसानों को मिला बड़ा फायदा, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

किसानों को 2% ब्याज दर पर ऋण दिए जाने की व्यवस्था जारी रहेगी और इस पर आने वाले साल में 1000 करोड़ पर खर्च किए जाएंगे।

नई आबकारी नीति

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। विधानसभा के बजट सत्र के बीच में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने कैबिनेट की बैठक (cabinet meeting) बुलाई थी। इन बैठक में अब महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है। जिसकी ब्रीफिंग गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) ने की।

दरअसल कैबिनेट की बैठक के बाद किसानों को एक बार फिर से बड़ा फायदा दिया गया है। जानकारी देते हुए मध्य प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि किसानों के हित में मध्यप्रदेश में कृषि उपकरणों जैसे हार्वेस्टर, कंबाइन,ट्रैक्टर आदि पर लगने वाला टैक्स 10% की जगह पहले 6% किया गया था और उसे अब 1% कर दिया गया है।नरोत्तम के अनुसार इस प्रकार की छूट से एक किसान को खरीद पर लगभग ढाई लाख रुपए का फायदा होगा।नरोत्तम के अनुसार शिवराज सरकार का किसानों के हित में काफी बड़ा निर्णय है।

Read More: MP: अवैध कॉलोनी के लिए अब इंजीनियर होंगे जिम्मेदार, निगम कमिश्नर ने दिए सख्त निर्देश

उसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों को 2% ब्याज दर पर ऋण दिए जाने की व्यवस्था जारी रहेगी और इस पर आने वाले साल में 1000 करोड़ पर खर्च किए जाएंगे।शिवरात्रि के ठीक पहले महाकाल मंदिर को भव्य और विस्तृत बनाने का फैसला किया गया है और इसके लिए नगर निगम की 0.42 हेक्टेयर जमीन महाकाल परिसर को दी गई है।

उद्योगों को जीएसटी के माध्यम से छूट दिए जाने का निर्णय लिया गया था वही छूट अब वैट के माध्यम से जारी रहेगी यह निर्णय भी शिवराज कैबिनेट में लिया गया है।बिजली सस्ती मिल सके इसके लिए भी उद्योग विभाग के माध्यम से बिजली विभाग को पैसे दिए जाने का प्रावधान कैबिनेट में किया गया है।मध्य प्रदेश के छह विकास प्राधिकरण ओं का दांडिख ब्याज इस कैबिनेट के माध्यम से माफ कर दिया गया है

इन प्रस्तावों पर भी लगी मुहर

  • उज्जैन के महाकाल मंदिर का मंदिर परिसर भव्य बनाया जाएगा।
  • इसके अलावा जीएसटी द्वारा उद्योगों को दी जाने वाली छूट को अब वैट के जरिए छूट मिलेगी।
  • वही भोपाल जबलपुर ग्वालियर इंदौर उज्जैन और देवास में प्राधिकरण द्वारा दंडिक ब्याज को माफ किया जाएगा।