कोरोना से निराश्रित बच्चों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा फैसला

कोरोना से निराश्रित बच्चों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा फैसला
भोपाल डेस्क रिपोर्ट। कोरोना के कारण निराश्रित हुए बच्चों के लिए शिवराज सरकार ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। इससे न केवल बच्चों बल्कि महिलाओ को भी लाभ होगा जिसमें पेंशन निशुल्क शिक्षा राशन व ब्याज मुक्त ऋण की व्यवस्था शामिल है

Corona: कहीं गिरावट तो कहीं है उछाल, कहीं स्थिर है स्थिति, जानें अपने राज्य का हाल

कोरोना की महामारी ने कई परिवारों से उनके सहारे छीन लिये है। किसी के पिता चले गए तो किसी की मां और कोई तो माता-पिता दोनों से वंचित हो गया। इतना ही नहीं कई बच्चों के तो कोई अभिभावक ही नहीं रहा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अब ऐसे परिवारों के लिये, जिनके बच्चों के सिर से अपने अभिभावक का साया छिन गया है और जीवन यापन की समस्या खड़ी हो गई है, बड़ा फैसला लिया है। अब ऐसे बच्चों के लिए, जिनके परिवार में अब कोई कमाने वाला नहीं बचा, 5000 रू प्रति माह पेंशन दी जाएगी। इस राशि से बच्चे अपना जीवन यापन कर सकेंगे। ऐसे सभी बच्चों की पढ़ाई का भी निशुल्क प्रबंध किया जाएगा ताकि वे आगे पढ़ लिख कर अपना काम कर सकें। यदि ऐसे परिवार में कोई पात्र नहीं है तो भी उसे निशुल्क राशन दिया जाएगा ताकि उनके भोजन का इंतजाम हो सके। यदि ऐसे परिवारों में कोई पुरुष सदस्य नहीं है और यदि उस परिवार की कोई महिला काम धंधा करना चाहेगी तो सरकार उसे बिना गारंटी के ब्याज का लोन भी काम धंधे के लिए उपलब्ध कराएगी ताकि वह अपने पैरों पर खड़ी हो सके और परिवार का जीवन यापन कर सकें।

जानिए, अमिताभ बच्चन को क्यों याद आए बाबा महाकाल

शिवराज ने यह भी कहा है कि ऐसे दुखी परिवारों को जो कोरोना के कारण बेसहारा हो गए हम अकेला नहीं छोड़ सकते। उनका सहारा हम हैं और प्रदेश की सरकार है। ऐसे बच्चों को चिंता करने की बिल्कुल जरूरत नहीं है। वह प्रदेश के बच्चे हैं और प्रदेश उनकी देखभाल करेगा, वह चिंता करेगा।