भावुक होकर बोले शिवराज सिंह चौहान- ब्यावरा सीट के हारने से टूट गया था मेरा दिल

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैंने व्यावरा के विकास में जी जान लगा दी। एक यही से मुख्यमंत्री थे, उनके समय तो राजगढ़ में भी सड़क, पानी और सिंचाई की व्यवस्था नहीं थी, सड़कों का जाल और सिंचाई की व्यवस्था सब की लेकिन बावजूद इसके बीजेपी हार गई, ब्यावरा सीट के हारने से मेरा दिल टूट गया था। अब भाजपा की विजय के लिए हम सब एकजुट है और 1000 वोट के नीचे हारने वाली कई सीट है।

Chief Minister Shivraj Singh Chauhan

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) आज शनिवार को कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी (Congress MLA Govardhan Dangi) के निधन से खाली हुई राजगढ़ जिले की ब्यावरा सीट (Biaora Seat) पर कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे, जहां उन्होंने भावुक होकर कहा मैंने व्यावरा के विकास में जी जान लगा दी। एक यही से मुख्यमंत्री थे, उनके समय तो राजगढ़ में भी सड़क, पानी और सिंचाई की व्यवस्था नहीं थी, सड़कों का जाल और सिंचाई की व्यवस्था सब की लेकिन बावजूद इसके बीजेपी हार गई, ब्यावरा सीट के हारने से मेरा दिल टूट गया था। अब भाजपा की विजय के लिए हम सब एकजुट है और 1000 वोट के नीचे हारने वाली कई सीट है।

वही पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) पर निशाना साधते हुए शिवराज ने  कहा कि  दिग्गी राजा शर्म करो। विधायक-मुख्यमंत्री से लेकर सांसद तक आप रहे, लेकिन कुएँ के पास ही लोग प्यासे छोड़ दिए। शिवराज यही नही रुके आगे कहा कि 15 माह में कांग्रेस ने कितने अत्याचार किये। 15 अगस्त के दिन खुजनेर में बेटियों पर हमला हो गया, कांग्रेस के पाप का घड़ा भर गया और फूट गया। जिस दिन सिंधिया जी कांग्रेस से अलग हुए, मैं भोपाल से आगर की रोड पर था, पूरी रास्ते जनता ने कहा गिर जाए ये सरकार ।

वही जनता से सवाल करते हुए शिवराज ने कहा कि सवा साल में कमलनाथ आये क्या यहां। मामा तो हर समय व्यावरा, खुजनेर, सुथालिया आता रहा है। कांग्रेस की जादूगरी देखो, सबका कर्जा माफ और आदेश आया अल्पकालीन ऋण माफ होगा। दूसरा आदेश मार्च 18 तक का कर्जा माफ होगा, तीसरा आदेश आया कि सिर्फ कालातीत ऋण माफ होगा, चौथा आदेश आया कि कुछ बैंकों का ही माफ होगा, पांचवा आदेश आया कि 2 लाख से ज्यादा कर्जा है तो कुछ भी नहीं मिलेगा, खोदा पहाड़, निकली चुहिया, वो भी मरी हुई , मरी हुई चुहिया लेकर घूम रहे अब कमलनाथ औऱ दिग्गी राजा।

आईफा अवार्ड को लेकर कसा तंज

शिवराज सिंह चौहान मे कहा कि आईफा अवार्ड को लेकर घेरते हुए कहा कि कमलनाथ ने कोरोना की बैठक नहीं की, आइफा की बैठक की । कमलनाथ, सलमान और जैकलीन फर्नांडिस एक साथ और कोरोना में जनता एक किनारे।

नारियल पर सियासत

शिवराज ने आगे कहा कि कमलनाथ जी कहते है कि मैं नारियल लेके चलता हूं, कांग्रेस को नारियल से क्या दिक्कत है, नारियल हमारी संस्कृति है, नारियल भगवान को चढ़ाया जाता है, प्रदेश की जनता मेरी भगवान है। मैं जनता के कल्याण और विकास के लिए नारियल फोड़ूगा और खूब फोड़ूगा। कमलनाथ जी , नारियल लेकर न चलूं तो क्या शराब की बोतल लेकर चलूं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here