तुलसी सिलावट

भोपाल। कांग्रेस पर छाए संकट के बावजूद सीएम कमलनाथ बार बार दावा कर रहे हैं कि उनके पास बहुमत है और अगर फ्लोर टेस्ट की नौबत आई तो वो बहुमत साबित करेंगे। इस बीच बेंगलुरू में ठहरे सिंधिया समर्थक विधायकों को मनाने और लौटाने की कोशिशे भी लगातर जारी है, मंगलवार रात सज्जन सिंह वर्मा इसी काम के लिये बेंगलुरू गए थें लेकिन बुधवार सुबह ही वो भोपाल लौट भी आए। ये भी माना जा  रहा था कि अगर सिंधिया बीजेपी ज्वाइन करते हैं तो कांग्रेसी विचारधारा वाले कुछ विधायक वापस लौट आएंगे। वहीं कमलनाथ सरकार के मंत्री भी बार बार कह रहे हैं कि इन्हें मना लिया जाएगा, लेकिन अब बेंगलुरू से इन विधायकों ने अपने वीडियो जारी कर साफ कह दिया है कि वो हर हाल में सिंधिया के साथ हैं।

खबरों के मुताबिक ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ 22 विधायक हैं और अब तुलसी सिवालट ने एक वीडियो जारी कर इसकी पुष्टि भी कर दी है। उन्होने इस वीडिये में कहा है कि पूरे 22 विधायक उनके साथ थे, हैं और रहेंगे। उन्होने कहा कि हम भोपाल के संपर्क में नहीं है हम स्वेच्छा से आए हैं। सिंधिया जी जो निर्णय लेंगे हम उनके साथ हैं। उनके साथ कई और विधायकों ने भी अपने वीडियो जारी कर सिंधिया के साथ होने की बात कही है। प्रभुराम चौधरी ने भी खुलकर सिंधिया का समर्थन किया है।