मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सख्त लहजा, कहा- कानून में करेंगे जरूरी संशोधन

शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गत तीन माह में प्रदेश में विभिन्न खाद्य सामग्रियों के 4,048 नमूने लिए गए। खाद्य कारोबारियों के 4,917 निरीक्षण किए गए और 293 को सुधार सूचना पत्र जारी किए गए। दूध एवं दूध से बने उत्पादों के 2,020 नमूने लिए गए।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में मतदान खत्म होते ही एक बार फिर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) एक्शन में आ गए हैं। बुधवार को उन्होंने ताबड़तोड़ बैठक की। वहीं कई तरह के जरूरी निर्देश भी जारी किए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनता को शुद्ध सामग्री उपलब्ध हो सके। इसके लिए कानून में आवश्यक संशोधन किया जाएगा।

वही त्यौहारी मौसम को देखते हुए उन्होंने निर्देश जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश में दूध और दूध से बनी सामग्री मिठाई और अन्य खाद्य सामग्रियों की निरंतर जांच की जाए। लगातार उनके नमूने जांच के लिए भेजे जाएं और यदि जांच में किसी भी तरह की कोई मिलावटखोरी पाई जाती है तो उस पर तुरंत कार्रवाई की जाए। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

सीएम शिवराज ने कहा है कि गत तीन माह में प्रदेश में विभिन्न खाद्य सामग्रियों के 4,048 नमूने लिए गए। खाद्य कारोबारियों के 4,917 निरीक्षण किए गए और 293 को सुधार सूचना पत्र जारी किए गए। दूध एवं दूध से बने उत्पादों के 2,020 नमूने लिए गए। निरीक्षण के दौरान 27 लाख 94 हजार रूपए के अपद्रव्य जप्त किए गए, जिनमें नकली घी, कुकीज़, मिर्च-मसाले, बेवरेज, वनस्पति घी, खाद्य तेल, एडलट्रेंट (नकली घी बनाने में प्रयोग होने वाला केमिकल) जप्त किया गया। 
वहीं सीएम शिवराज ने बताया कि भारत सरकार की ‘क्लीन स्ट्रीटफूड हब’ योजना के अंतर्गत स्ट्रीटफूड विक्रय क्षेत्रों को प्रमाणित किया जाता है। इंदौर के 56 दुकान क्षेत्र को प्रमाणित किया गया है। शाहपुरा झील,भोपाल व घंटाघर चौपाटी क्षेत्र, उज्जैन में सिविल कार्य प्रचलन में है,सराफा बाजार में प्रशिक्षण पूर्ण हो गया है।

उन्होंने कहा कि मिलावटखोरों के मन में खौफ बना रहे इसके लिए मिलावटखोरों को संज्ञेय अपराध बनाया जाएगा ओर मौजूदा कानून में संशोधन किया जाएगा। ताकि जनता को उपयोग के लिए शुद्ध सामग्री उपलब्ध हो सके। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चीनी पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी है। वहीं पटाखों में देवी देवताओं के चित्र को भी प्रतिबंधित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here