मध्य प्रदेश उपचुनाव में प्रियंका गांधी की एंट्री पर सस्पेंस, अकेले ही डटे कमलनाथ

उपचुनाव के प्रचार के लिए प्रियंका गांधी का रोड शो कराने की रणनीति थी, नवरात्रि के दिनों में प्रियंका गांधी और सचिन पायलट दोनों ही नेताओं का रोड शो की तैयारी थी, प्रियंका दतिया में मां पीतांबरा पीठ के दर्शन करने के लिए आने वाली थीं

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (MadhyaPradesh) में उपचुनाव (Byelection) वाली 28 सीटों पर जीत कर सत्ता वापसी का सपना देख रही कांग्रेस में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) अकेले शिवराज और उनकी टीम से लोहा ले रहे हैं| भाजपा (BJP) ने कमलनाथ को निशाने पर लिया है| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) समेत बीजेपी के सभी दिग्गज अपने भाषणों में कमलनाथ को टारगेट कर घेराबंदी करने में जुटे हुए| वहीं ‘आइटम’ वाले बयान के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) का मध्य प्रदेश दौरा भी खटाई में पड़ता दिख रहा है|

कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया है| उपचुनाव के प्रचार के लिए प्रियंका गांधी का रोड शो कराने की रणनीति थी| नवरात्रि के दिनों में प्रियंका गांधी और सचिन पायलट दोनों ही नेताओं का रोड शो की तैयारी थी| प्रियंका दतिया में मां पीतांबरा पीठ के दर्शन करने के लिए आने वाली थीं। लेकिन अभी तक प्रियंका गांधी का एमपी दौरे को लेकर कोई कार्यक्रम ही जारी नहीं हुआ है।

सियासी गलियारों में प्रियंका गांधी आएँगी या नहीं इसकी चर्चा जोरो पर है| सूत्रों का कहना है कि उनका दौरा रद किया जा सकता है| आइटम वाले बयान को भाजपा ने कमलनाथ के खिलाफ बड़ा मुद्दा बनाया है, ऐसे में महिला अस्मिता से जुड़ा मुद्दा होने के कारण प्रियंका से सीधा सवाल होना भी तय है। जिसके चलते पार्टी अपनी रणनीति में बदलाव कर सकती है| खबरें ये भी हैं कि प्रियंका गांधी कमलनाथ के इमरती देवी को लेकर दिए गए आइटम वाले बयान और फिर राहुल गांधी के बयान पर कमलनाथ की ओर से सीधी प्रतिक्रिया दिए जाने से नाराज हैं |

उपचुनाव के लिए मतदान 3 नवंबर को होना है, लेकिन अब तक राहुल गांधी-प्रियंका गांधी समेत पार्टी के बड़े चेहरे एक बार भी मध्यप्रदेश में उप चुनाव का प्रचार करने नहीं आए हैं| माना जा रहा है कि कमलनाथ के आइटम वाले बयान के बाद मचे बवाल के बाद राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश से दूरी बना ली है|