वेटलिफ्टर चानू को मिल सकता है स्वर्ण पदक ! पहले नम्बर पर आई चीन की खिलाड़ी का होगा डोप टेस्ट

चीन की विजेता खिलाड़ी को स्वदेश लौटने से रोका ।

दिल्ली,डेस्क रिपोर्ट। टोक्यो ओलंपिक्स 2020 (Tokyo Olampyics 2020) में भारत को सिल्वर मेडल दिलाने वाली मीराबाई चानू (Meera Bai Chanu) के लिए बड़ी खबर है। दरअसल, 49 किलो वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू दूसरे नंबर पर रही थीं और स्पर्धा का स्वर्ण चीन (China) की वेटलिफ्टर झिहुई होउ को मिला था। अब झिहुई होउ का डोपिंग टेस्ट किया जा रहा है। यदि झिहुई होउ दोषी पाई जाती हैं तो नियमानुसार मीराबाई चानू का रजत पदक अब स्‍वर्ण पदक (Gold Medal) में बदल जाएगा। चीनी एथलीट झिहुई होउ आज स्वदेश लौटने वाली थीं, लेकिन उन्हें रुकने को गया है। किसी भी समय उनका डोपिंग टेस्ट हो सकता है। ओलंपिक्स के इतिहास में ऐसा पहले भी हो चुका है जब डोपिंग में फेल होने पर खिलाड़ी का पदक छिन लिया गया और दूसरे नंबर पर रहने वाले खिलाड़ी को दे दिया गया है।

श्रावण मास का पहला सोमवार, कीजिये अद्भुत ‘जलेश्वर महादेव’ के ड्रोन वीडियो के जरिये दर्शन…

गौरतलब है कि भारत की 26 वर्षीय भारोत्तोलक चानू ने शनिवार को टोक्यो ओलंपिक में देश के लिए पहला रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया था। टोक्यो इंटरनेशनल फोरम (Tokyo International Forum) में महिलाओं के 49 किग्रा वर्ग में प्रतिस्पर्धा में अपने चार सफल प्रयासों के दौरान चानू ने कुल 202 किग्रा (स्नैच में 87 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 115 किग्रा) उठाया। चीन की झिहुई होउ ने कुल 210 किग्रा के साथ स्वर्ण पदक जीता और एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड बनाया, जबकि इंडोनेशिया की विंडी केंटिका आइसा ने कुल 194 किग्रा के साथ कांस्य पदक जीता।

हालांकि, सच्चाई यह है कि ओलंपिक में करीब 5,000 एथलीटों का रेंडम डोपिंग टेस्ट किया जा रहा है और नमूने एकत्र किए जा रहे हैं। यह रूटीन प्रक्रिया है। चीन की वेटलिफ्टर होऊ का डोप टेस्ट अगर सकारात्मक रूप में आते हैं, तो मीरबाई भारत की पहली महिला ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता होंगी।

एक ट्वीट है आधार

मीराबाई के रजत को स्वर्ण में बदलने वाली बात सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर से उपजी। अमेरिका के नागरिक काइल बैस का एक ट्वीट वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने लिखा है कि स्वर्ण पदक विजेता झुहुई का डोप टेस्ट होगा। बैस के ट्वीटर बायो में लिखा है कि ये हेमैन कैपिटल मैनेजमेंट के चीफ इन्वेस्टमेंट ऑफिसर हैं। जैसे ही यह ट्वीट सोशल मीडिया पर आया कई यूजर्स ने यह मान लिया कि झुहुई ने कोई प्रतिबंधित पदार्थ लिया है और उनका स्वर्ण पदक रद्द कर मीराबाई चानू के रजत पदक को स्वर्ण में बदला जाएगा। कि ओलिंपिक में 5,000 खिलाड़ियों का रैंडम डोप टेस्ट किया गया है जिसमें प्रतियोगिता के बाद और पहले के नूमने शामिल हैं। अभी हालांकि यह अनुमान नहीं लगाया जा सकता कि झुहुई का टेस्ट पॉजिटिव आएगा ही, चाहे उनका टेस्ट क्यों न हुआ हो। हालांकि अगर उनका टेस्ट पॉजिटिव आता है तो मीराबाई के खाते में स्वर्ण आ सकता है, लेकिन यह देखने वाली बात होगी।