टीआई का मोबाइल लूटा, दूसरे टीआई ने बदमाश सौंपा, SP ने किया लाइन अटैच

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर जिले के कंपू थाना प्रभारी (Kmapoo TI)को दतिया कोतवाली थाना प्रभारी (Datia Kotwali TI) की कानून को दरकिनार कर मदद करना भारी पड़ गया है। टीआई कंपू की कार्रवाई को लापरवाही मानते हुए ग्वालियर एसपी ने टीआई को लाइन अटैच कर दिया है और पूरे मामले की जांच 7 दिन पूरे करने के निर्देश सीएसपी को दिये हैं।

पिछले दिनों ग्वालियर आये दतिया कोतवाली थाना प्रभारी रत्नेश यादव (Ratnesh Yadav)का मोबाइल एक बदमाश लूटकर फरार हो गया । घटना 15-16 जनवरी की रात कंपू थाना क्षेत्र की है। लूट की घटना के बाद दतिया कोतवाली टीआई रत्नेश यादव (Ratnesh Yadav) ने घटना की जानकारी कंपू थाने को दी। टीआई के साथ हुई लूट की सूचना पर तत्काल एक्शन लेते हुए टीआई कंपू अनीता मिश्रा (Anita Mishra) ने घेराबंदी कर मोबाइल लूटने वाले बदमाश को पकड़ लिया लेकिन उन्होंने अपने महकमे के अफसर के साथ हुई घटना के चलते कानून को नजरंदाज किया और आरोपी युवक को टीआई दतिया रत्नेश यादव (Ratnesh Yadav) को ही सौंप दिया। बताया जाता है कि दतिया कोतवाली टीआई युवक को अपने साथ दतिया ले गए और वहाँ उसके उसपर आर्मस् एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर बंद कर दिया।

युवक को बंद किये जाने के बाद परिजनों ने एसपी से शिकायत की कि जब घटना ग्वालियर की है तो दतिया में आर्मस् एक्ट की कार्रवाई कैसे हो सकती है। इस पूरे मामले को ग्वालियर एसपी अमित सांघी मे गंभीरता से लिया और टीआई कंपू अनीता मिश्रा को लाइन अटैच कर दिया। एसपी ने पूरे मामले की जांच सीएसपी इंदरगंज को सौंपकर 7 दिन में जांच पूरी करने के निर्देश दिये हैं।

टीआई का मोबाइल लूटा, दूसरे टीआई ने बदमाश सौंपा, SP ने किया लाइन अटैच

ग्वालियर एसपी की शिकायत पर एसपी दतिया ने टीआई को किया निलंबित

उधर टीआई कंपू अनीता मिश्रा को लाइन अटैच करने के बाद पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने दतिया एसपी अमन सिंह राठौर को विभागीय पत्र लिखकर टीआई कोतवाली दतिया की शिकायत की। पत्र को पढ़ने के बाद एसपी दतिया अमन सिंह राठौर ने टीआई कोतवाली रत्नेश यादव को बिना अनुमति मुख्यालय छोड़ने और ग्वालियर में लूट की घटना करने वाले आरोपी सोम भार्गव को अवैधानिक तरीके से दतिया लेकर कोतवाली में आर्मस् एक्ट में मामला दर्ज करने को गंभीरता से लिया और रत्नेश यादव को निलंबित कर दिया।

टीआई का मोबाइल लूटा, दूसरे टीआई ने बदमाश सौंपा, SP ने किया लाइन अटैच