कोरोना काल में कर्मचारियों को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, 1.5 करोड़ से अधिक को मिलेगा लाभ

यह नियम ठेके और अस्थाई दोनों तरह के कर्मचारी पर भी लागू की जाएगी।

rupees

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना काल (corona era) में लगातार लोगों को आर्थिक कमी का सामना करना पड़ रहा है। लाखों लोगों की नौकरियां चली गई है जबकि कई ऐसे भी लोग हैं जिन्हें कई महीनों से वेतन (salary) की राशि उपलब्ध नहीं कराई गई है। इस बीच अब श्रम और रोजगार मंत्रालय (Ministry of Labor and Employment) द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों (Central workers) के लिए बड़ा फैसला लिया गया है। जहां उनकी वेरिएबल महंगाई भत्ते (Variable DA) में वृद्धि की गई है। वृद्धि किए गए भत्ते केंद्रीय कामगारों के लिए 1 अप्रैल 2021 से लागू होंगे।

दरअसल श्रम और रोजगार मंत्रालय शुक्रवार को केंद्रीय सेक्टर में 1.5 करोड़ से अधिक कामगारों के Variable DA 105 बढ़ाकर 210 रुपए प्रति महीना करने का ऐलान किया है। जिसके बाद केंद्रीय क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारी और कामगारों के न्यूनतम वेतन की दर में वृद्धि निश्चित है।

Read More: कोरोना कर्फ्यू: भोपाल के बाद अब ये जिले 31 मई तक LOCK, बढ़ेगी सख्ती

इस मामले ने केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार का कहना है विभिन्न अनुसूचित रोजगार से जुड़े कर्मचारियों के लिए यह बड़ा कदम है। इस कदम से देश के 1.5 करोड़ से अधिक श्रमिक, जो केंद्र सरकार के विभिन्न अनुसूचित रोजगार से जुड़े हैं। उनके मुश्किल वक्त में उन्हें मदद मिलेगी। साथ ही वेरिएबल डीए की बढ़ोतरी से उन्हें इस कोरोना काल की मुश्किल वक्त में लड़ने के लिए मदद दी जाएगी।

ज्ञात हो कि केंद्र सरकार द्वारा शुक्रवार को केंद्रीय सेक्टर के लिए कामगारों के महंगाई भत्ते को 105 रुपए से बढ़ाकर 210 रुपए प्रति महीना करने का ऐलान किया गया है। यह नियम केंद्र सरकार के विभिन्न अनुसूचित रोजगार से जुड़े कर्मचारी के लिए हैं। नियम के तहत केंद्र सरकार के अंतर्गत आने वाले रेलवे, खदान, तेल क्षेत्र और केंद्र सरकार द्वारा स्थापित किए गए निगम के प्राधिकरण के तहत संस्थानों पर लागू किए जाएंगे। साथ ही यह नियम ठेके और अस्थाई दोनों तरह के कर्मचारी पर भी लागू की जाएगी।