क्या पंजाब में Congress के लिए संकटमोचन बनेंगे Kamalnath! ये है पूरा मामला

बीडी शर्मा (VD Shrama) ने कहा कि जो अपनी नाव डूबा चुका है। वह दूसरे का क्या खेवनहार बनेगा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पंजाब (punjab) में कांग्रेस (congress)  के अंदरूनी विवाद सुलझने के नाम नहीं ले रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh siddu) के आलाकमान से बैठक के बाद भी यह मामला उलझता ही जा रहा है। इसी सियासी हलचल को बढ़ाते हुए वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू के एक ट्वीट (tweet) ने सियासत के दांव पेंच को और पलट कर रख दिया है।

दरअसल पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (amrinder singh) और वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच अंदरूनी विवाद थमने का नाम नहीं ले रही है। बिगड़े समीकरण के बीच अब नवजोत सिंह सिद्धू ने आम आदमी पार्टी (aam aadmi party) की तारीफ में कसीदे पढ़ना शुरू कर दिया है। इसी बीच नवजोत सिंह सिद्धू के एक ट्वीट के बाद उनके आम आदमी पार्टी में जाने की अटकलें तेज हो गई है।

सिद्धू के इस ट्वीट के बाद New Delhi- Punjab तक सियासी पारा गरमा गया है। कयास लगाए जा रहे हैं नवजोत सिंह सिद्धू पँचब विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका देकर आम आदमी पार्टी ज्वाइन कर सकते हैं। गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी  के सांसद भगवंत मान तो पहले ही सिद्धू को आम आदमी पार्टी ज्वाइन करने का खुला आमंत्रण दे चुके हैं।

Read More: MP में इस दिन से खुलेंगे कॉलेज, सीएम शिवराज ने की बड़ी घोषणा

हालांकि आनन-फानन में कॉलम कांग्रेस आलाकमान ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) को पंजाब मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच बात कराने की जिम्मेदारी सौंपी है। सूत्रों की माने तो अमरिंदर सिंह से खफा सिद्धू के आम आदमी पार्टी में जाने की अटकलें लगाई जा रही है। इसी बीच नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा दोपहर में किया गया एक ट्वीट एक बार फिर से चर्चा का विषय बना हुआ है।

सूत्रों की माने तो पार्टी आलाकमान ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को विवाद सुलझाने की जिम्मेदारी सौंपी है बता दें कि मुख्यमंत्री अमरिंदर के कैबिनेट मंत्री रहे सिद्धू ने विवाद के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके द्वारा सरकार में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे थे। कमलनाथ को इन दोनों नेताओं के बीच सुलह कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कमलनाथ इससे पहले कई बार कांग्रेस के लिए संकट मोचन की भूमिका निभा चुके हैं।

हालांकि कांग्रेस आलाकमान द्वारा पंजाब के अंदरूनी विवाद को सुलझाने के लिए कमलनाथ के चयन पर BJP ने उन्हें जमकर निशाना साधा है। मध्य प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (MP BJP) के अध्यक्ष बीडी शर्मा (VD Shrama) ने कहा कि जो अपनी नाव डूबा चुका है। वह दूसरे का क्या खेवनहार बनेगा। पंजाब में कांग्रेस का विभाजन सुनिश्चित है और जल्द हम इसके साक्षी बनेंगे।