Financial Deadline in June: जून में निपटा लें बैंकिंग, आधार और पैसों से जुड़े ये काम, वरना बाद में होगी परेशानी, पढ़ें पूरी खबर 

जून में पैसों से जुड़े कुछ कार्यों को पूरा करने की डेडलाइन है। इन कार्यों को पूरा न करने पर भारी नुकसान भी हो सकता है।

financial deadline in june

Financial Deadline in June: वित्तीय मामलों को लेकर जून का महिना बेहद ही खास है। कई महत्वपूर्ण कार्यों को पूरा करने की डेडलाइन इसी महीने खत्म होने वाली है। इसमें आधार अपडेट, क्रेडिट कार्ड और पैसों से संबंधित अन्य चीजों शामिल हैं। इन कार्यों को पूरा न करने पर भारी नुकसान भी हो सकता है। आइए जानें जून में कौन-कौन से कार्यों को पूरा करना जरूरी है-

फ्री में अपडेट करें आधार

इस लिस्ट में सबसे पहले नंबर आधार कार्ड अपडेट है। UIDAI ने अभी उपभोक्ताओं को 10 साल पुराने आधार को अपडेट करने की सलाह दी है। आमजन 14 जून तक फ्री में अपने आधार को अपडेट कर सकते हैं। इसके बाद पत्ता और पहचान में बदलाव या कोई भी अपडेट करने के लिए 50 रुपए का शुल्क देना होगा।

एचडीएफसी बैंक क्रेडिट कार्ड 

यदि आप एचडीएफसी बैंक स्विगी क्रेडिट कार्ड यूजर्स हैं तो आपके लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस क्रेडिट कार्ड के कैशबैक नियमों में बदलाव होने जा रहा है। नए नियम 21 जून से प्रभावी होंगे।

इन बैंक एफडी स्कीम का उठा लें लाभ 

यदि आप बैंक एफडी में निवेश करने की योजना बना रहे हैं तो 30 जून तक कुछ प्रसिद्ध बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम का लाभ उठा लें। उसके बाद ये योजनाएं बंद हो जाएगी।

  • इंडियन बैंक 300 दिन और 400 दिन की स्पेशल एफडी स्कीम चला रहा है। जिसपर 7.05% से लेकर 8% तक ब्याज मिल रहा है।
  • पंजाब और सिंध बैंक 222 दिन, 333 दिन और 444 दिन की स्पेशल एफडी स्कीम चला रहा है। इन योजनाओं पर रेगुलर एफडी की तुलना में ज्यादा रिटर्न मिल रहा है। ब्याज दरें 7.05% से लेकर 7.25% हैं।
  • आईडीबीआई बैंक के 300 दिन, 375 दिन और 444 दिन के स्पेशल एफडी स्कीम पर भी अच्छा ब्याज मिल रहा है। इन्टरेस्ट रेट 7.05% से लेकर 7.7% है।

Mutual Fund नॉमिनेशन करवाना जरूरी 

म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए जून का महिना जरूरी है। क्योंकि 30 जून को म्यूचुअल फंड के लिए नॉमिनेशन करने की अंतिम तिथि है। यह काम पूरा न होने पर डीमैट अकाउंट फ्रीज़ भी हो सकता है।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News