Mutual Funds: म्यूचुअल फंड होल्डर्स को सेबी की तरफ से मिली बड़ी राहत, अब जॉइंट खातों के लिए नॉमिनेशन को किया वैकल्पिक

Mutual Funds: विशेषज्ञों का मानना ​​है कि जॉइंट फोलियो होल्डर्स के लिए किसी को नॉमिनेट करने की आवश्यकताओं में छूट फायदेमंद होगी, यह SEBI के म्यूचुअल फंड पर फैसले के अनुसार है।

Rishabh Namdev
Published on -

Mutual Funds: SEBI ने म्यूचुअल फंड खातों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। अब जॉइंट म्यूचुअल फंड के नॉमिनेशन को वैकल्पिक बना दिया गया है, जिससे कारोबार सुगम होगा। साथ ही, SEBI ने फंड मैनेजर की संख्या को कम करने के लिए फंड हाउस को कमोडिटी और विदेशी निवेश की निगरानी में एकीकृत करने का निर्देश दिया है। इससे फंड के प्रबंधन की लागत में कमी होगी और निवेशकों को अधिक लाभ होगा।

क्या है बदलाव?

दरअसल सेबी ने समूह द्वारा की गई समीक्षा के आधार पर कई सुझावों का अमल किया है। इसके परिणामस्वरूप, संयुक्त म्यूचुअल फंड खातों में नॉमिनेशन को वैकल्पिक बनाया गया है और ‘फंड हाउस’ को कमोडिटी और विदेशी निवेशों की देखरेख के लिए एक ही फंड मैनेजर रखने का विकल्प दिया गया है। इस निर्णय से कारोबार में आसानी होगी और निवेशकों को अधिक सुरक्षा और सुगमता मिलेगी।

Continue Reading

About Author
Rishabh Namdev

Rishabh Namdev

मैंने श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय इंदौर से जनसंचार एवं पत्रकारिता में स्नातक की पढ़ाई पूरी की है। मैं पत्रकारिता में आने वाले समय में अच्छे प्रदर्शन और कार्य अनुभव की आशा कर रहा हूं। मैंने अपने जीवन में काम करते हुए देश के निचले स्तर को गहराई से जाना है। जिसके चलते मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार बनने की इच्छा रखता हूं।