कच्चे तेल में गिरावट, MP के कई जिलों में बदल गए पेट्रोल-डीजल के भाव, यहाँ महंगा हुआ ईंधन, जानें नए रेट

Manisha Kumari Pandey
Published on -
Petrol diesel

Petrol And Diesel Rate In MP Today: 25 मार्च को क्रूड ऑयल में गिरावट देखी गई है। ब्रेंट क्रूड 1.21 फीसदी की गिरावट के साथ 74.99 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है। वहीं डब्ल्यूटीआई की कीमत 1.00 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। तेल कंपनियों ने भी पेट्रोल और डीजल के नए रेट जारी कर दिए हैं। मध्यप्रदेश समेत देश के कई राज्यों में ईंधन के भाव में बदलाव हुआ है। एमपी के विभिन्न जिलों में फ्यूल के रेट भी अलग है। शनिवार को कहीं गिरावट को कहीं इजाफा देखा गया है।

पेट्रोल-डीजल के जारी है उतार-चढ़ाव

बालाघाट में 1.06 रुपये, अशोकनगर में 0.52 रुपये, देवास में 0.21 रुपये, हरदा में 0.19 रुपये, होशंगाबाद में 0.35 रुपये, जबलपुर में 0.54 रुपये, झाबुआ में 0.83 रुपये, खंडवा में 0.55 रुपये, खरगोन में 0.94 रुपये, रतलाम में 0.30 रुपये, रीवा में 0.93 रुपये, सतना में 0.14 रुपये, सिवनी में 0.16 रुपये, शाजापुर में 0.34 रुपये, शिवपुरी में 0.34 रुपये, सिंगरौली में 0.13 रुपये और विदिशा में 0.40 रुपये की वृद्धि हुई है। वहीं उमरिया में 0.23 रुपये, सागर में 0.37, राजगढ़ में 0.81 रुपये, रायसेन में 0.18 रुपये, पन्ना में 0.15 रुपये, नरसिंहपुर में 1,19 रुपये, मंदसौर में 0.23 रुपये, गुना में 0.41 रुपये, डींडौरी में 0.57 रुपये, दमोह में 0.40 रुपये, छिंदवाड़ा में 0.63 रुपये, भोपाल में 0.24 रुपये, बेतूल में 0.38 रुपये, अलीराजपुर में 0.43 रुपये और आगर मालवा में 0.38 रुपये की गिरावट हुई है।

Continue Reading

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"