SBI ग्राहकों को लगेगा बड़ा झटका! 1 फरवरी से बढ़ेंगे इस सर्विस के चार्ज

अब 1 फरवरी 2022 से 2 लाख रुपये से 5 लाख रुपये के बीच IMPS के जरिये पैसा ट्रांसफर करने पर 20 रुपये + प्लस GST चार्ज लगेगा।

SBI

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के सबसे बड़े पब्लिक सेक्टर बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank Of Indian SBI) ग्राहकों के लिए बड़ी खबर है।एसबीआई 1 फरवरी 2022 से IMPS करने के नियमों को बदलने जा रहा है। एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, बैंक ने 1 फरवरी 2022 से आईएमपीएस ट्रांजेक्शन (IMPS Transaction)  में एक नया स्लैब जोड़ा है, जो 2 लाख से 5 लाख रुपये का है।

यह भी पढ़े.. शिक्षकों को नए साल का तोहफा- वेतन में 50% वृद्धि, 14000 तक बढ़कर आएगी सैलरी

नए बदलाव के अनुसार, अब 1 फरवरी 2022 से 2 लाख रुपये से 5 लाख रुपये के बीच IMPS के जरिये पैसा ट्रांसफर करने पर 20 रुपये + प्लस GST चार्ज लगेगा।  इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने अक्टूबर 2021 में आईएमपीएस के जरिए ट्रांजेक्शन की सीमा को 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया था।वही 1 जनवरी से ATM से कैश निकालना (Cash ATM Transaction) महंगा हो गया है, 1 जनवरी 2022 से यह चार्ज 21 रुपये प्रति वित्तीय ट्रांजेक्शन तय किया गया है।

यह भी पढ़े.. MP में EOW की बड़ी कार्रवाई, 20 हजार की रिश्वत लेते CEO रंगेहाथों गिरफ्तार

बता दे कि आईएमपीएस (IMPS) का पूरा नाम इमीडियेट मोबाइल पेमेंट सर्विस है। यह ऑनलाइन पैसे भेजने का एक माध्यम है। इसके जरिए किसी भी खाता धारक को कहीं भी कभी भी पैसे भेज सकते हैं। इसमें ग्राहक को रियल टाइम में इंटर बैंक फंड ट्रांसफर की 24 X 7 परमिशन मिलती है, जिसमें रविवार और छुट्टियां शामिल हैं। इसमें इंटरनेट बैंकिंग के अलावा मोबाइल बैंकिंग ऐप्स, बैंक ब्रांच, ATM, SMS और IVRS के जरिए फंड ट्रांसफर होता है। हालांकि RBI ने डेली ट्रांजैक्शन की जो सीमा बढ़ाई है वह SMS और IVRS पर लागू नहीं होती। SMS और IVRS के जरिए सिर्फ 5000 रुपए का ही ट्रांसफर होता है।