CLAT 2025: कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट का नोटिफिकेशन जारी, 15 जुलाई से रजिस्ट्रेशन शुरू, परीक्षा की तारीख घोषित, जानें डिटेल 

यूजी और पीजी लॉ कोर्स के लिए आयोजित होने वाली CLAT परीक्षा से संबंधित नोटिफिकेशन जारी हो चुका है। आवेदन 15 जुलाई से शुरू होंग।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
clat 2025

CLAT 2025: कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ने कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (सीएलएटी 2025) का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। आवेदन पोर्टल 15 जुलाई को खुलेगा। उम्मीदवार 15 अक्टूबर 2024 तक ऑनलाइन consortiumofnlus.ac पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे। परीक्षा की तारीख घोषित हो चुकी है। सीएलएटी परीक्षा के तहत छात्रों का दाखिला यूजी और पीजी लॉ कोर्स के लिए 22 एनएलयू और अन्य संस्थानों में होता है।

नोट कर लें परीक्षा की तारीख और पैटर्न

सीएलएटी परीक्षा का आयोजन 1 दिसंबर 2024 को किया जाएगा। सिंगल शिफ्ट में एग्जाम ऑफलाइन मोड में आयोजित होगा। परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 4 बजे तक चलेगी। 2 घंटे के एग्जाम में 120 प्रश्न पूछे जाएंगे। यूजी पेपर में इंग्लिश लैंग्वेज, करेंट एफेयर्स, लॉजीकल रिजनिंग और मात्रात्मक प्रश्न शामिल होंगे। वहीं पीजी पेपर में संवैधानिक कानून और अन्य लीगल क्षेत्र के प्रश्न शामिल होंगे।

आवेदन शुल्क

आवेदन करने जे लिए जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों को 4,000 रुपए शुल्क का भुगतान करना होगा। वहीं एससी/एसटी/पीडब्ल्यूडी के एप्लीकेशन फीस 3500 रुपए होगी।

पात्रता 

5 वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के लिए उम्मीदवारों का 12वीं में 45% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। एससी/एसटी और पीडब्ल्यूडी कैटेगरी के उम्मीदवारों का 12वीं में 40% अंक होना चाहिए। वहीं 1 वर्ष LLM पाठ्यक्रम के लियर 50% अंकों के साथ LLB की डिग्री होनी चाहिए। एससी/एसटी और पीडब्ल्यूडी के लिए योग्यता अंक 45% है।

इन विश्वविद्यालयों में मिलेगा एडमिशन

CLAT 2025 परीक्षा में प्राप्त स्कोर के आधार पर एनएलआईयू भोपाल, एनएलयू जोधपुर, एनएएलएसएआर हैदराबाद, एनएलएसआईयू बेंगलुरू, एनएलयूओ ओडिशा, एचएनएलयू रायपुर, जीएनएलयू गांधीनगर, डब्ल्यूबीएनयूजेएस कोलकाता, जीएनएलयू सिलवासा कैंपस, आरएमएलएनएलयू लखनऊ, सीएनएलयू पटना, आरजीएनयूएल पंजाब, एनयूएएलएस कोची, एनयूएसआरएल रांची, एनएलयूजेए असम, डीएसएनएलयू विसाखापटनम, एमएनएलयू मुंबई समेत अन्य विश्वविद्यालयों में होगा।

clat 2025

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News