महोगनी के पेड़ का business देता है मोटी कमाई, जाने कैसे करें इसकी शुरुआत?

Business Idea: महोगनी के पेड़ का हर हिस्सा आपको कमा कर दे सकता है। इसके बीज, पत्ते और लकड़ी से आप करोड़ों रुपये की कमाई कर सकते हैं। जानते हैं कैसे –

करियर, डेस्क रिपोर्ट। महोगनी के पेड़ का business करके करोड़पति बन सकते हैं। हालांकि, इसके लिए थोडा समय इंतजार करने पड़ेगा, लेकिन आप इसे एक लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट की तरह देखें तो करोड़ों रुपये के लिए इतना इंतजार तो किया ही जा सकता है।दरअसल महोगनी के पेड़ को बिक्री के लिए तैयार होने में 12 वर्ष का समय लग सकता है, लेकिन महोगनी की लकड़ी मजबूत और टिकाऊ होने के कारण बाजार में इस पेड़ की डिमांड बहुत ज्यादा है। अगर बड़ी संख्या में इसके पेड़ लगाए जाएं तो कुछ सालों में आप करोडपति बन जाएँगे।

यह भी पढ़ें – कागज का यह business बड़ा ही सुपरहिट है, एक बार शुरू करने पर होती है हर महीने कमाई

महोगनी का पेड़ बहुत काम का होता है। इसका हर हिस्सा आपको कमी करके देगा। इसकी लकड़ी बहुत मजबूत होती है। जहां 50 डिग्री सेल्सियस के तापमान में भी सही सलामत रहती है वहीँ पानी में भी टिकी रहती है। यही कारण है कि इसका उपयोग कीमती फर्नीचर, जहाज, सजावट का सामान, प्लाइवुड और मूर्तियां बनाने में किया जाता है। महोगनी के पत्तों का से कई बिमारियों, जैसे- कैंसर, ब्लडप्रेशर, अस्थमा की दवाओं में किया जाता है। यही नहीं, इसके बीजों और फूलों का भी इस्तेमाल है। इनका प्रयोग शक्तिवर्धक दवाओं को बनाने में किया जाता है। इस पेड़ की पत्तियों और बीज के तेल से मच्छर मारने वाली दवा बनाई जाती है।।  महोगनी के बीज बहुत अधिक दाम में मिलते हैं। 1 किलो बीज की कीमत लगभग 1000 रुपये होती है।

यह भी पढ़ें – New business: 3 गुना प्रॉफिट के साथ शुरू करें यह खास बिजनेस, कॉम्पिटिशन बेहद कम, जानिए पूरी प्रोसेस

यदि आप 1 बीघा ज़मीन में महोगनी के पेड़ लगाना चाहते हैं तो आपको केवल 40-50 रुपये का खर्च आता है। लेकिन जब यह पेड़ बन जाएगा तब एक पेड़ की बिक्री 20-30 हजार में कर सकते हैं। इसलिए यदि बड़े स्तर पर (लगभग 500 पेड़) भी उगाएं तो आराम से 1 करोड़ रुपये कमाए जा सकते हैं। यही नहीं, महोगनी का पेड़ आप कहीं भी लगा सकते हैं। यह कम पानी में भी आराम से बढ़ता रहता है। इस पेड़ की लंबाई लगभग 40-200 फीट होती है। भारत में यह पेड़ 60 फीट की लम्बाई तक बढ़ते हैं। हालाँकि इस पेड़ की जड़ें ज्यादा गहरी नहीं होने के कारण यह तेज हवा आने पर उखड़ सकता है।